Friday , 14 December 2018
Breaking News

बीकानेर में मतदान के बाद जीत-हार का लगने लगा कयास

बीकानेर, 08 दिसम्बर (उदयपुर किरण). बीकानेर जिले में छिटपुट घटनाओं को छोड़ शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न होने के बाद प्रत्याशियों की जीत-हार की समीक्षा शनिवार को शहर के चौक-चौराहों से लेकर गलियों व चौपालों में होने लगी है. अपने-अपने दलों के समर्थक अपनी जीत का दावा कर रहे हैं. सभी प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में बंद हो चुकी है, जो 11 दिसम्बर को खुलेगी. चौक-चौराहे, चाय-पान की दुकानों, हाट बाजारों, गांव-गलियों और चौपालों पर एक-दूसरे के समर्थक अपने प्रत्याशी की जीत का दावा ठोक रहे हैं. वहीं जीत के लिए बाजियां भी लगाई जा रही हैं. मतदाताओं की चुप्पी ने प्रत्याशियों को बेचैनी बढ़ा दी है.
विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होने के साथ ही जीत व हार का मंथन का दौर शुरू हो गया है. इस बीच जीत के दावों को लेकर लोगों के आपस में तकरार बढ़ गई है. बातों-बातों में लोगों के सुर तेज होते जा रहे हैं. वहीं सामने वाला अपनी जिद पर अड़ा है. नतीजतन जीत के दावे को लेकर तल्खियां बढ़ी हैं. बता दें कि इस विधानसभा चुनाव ने लोगों के बीच की दूरियां बढ़ा दी है. जिसे अब पाटने में समय लगेगा. नेता तो चुनावी जीत व हार के बाद अपने स्थान ले खिसक लेंगे. लेकिन, लोगों में जीत के दावों को लेकर बढ़ रहे विवाद शायद जल्द दूर नहीं होंगे. गांवों से लेकर शहरों तक की अमूमन यही स्थिति है. सभी जगहों से जीत किसकी होगी की बहस विवाद का रूप ले रही है. समर्थक अपने मोबाइल से वोटों का आंकड़ा संग्रह कर रहे हैं. वहीं राजनीतिक पंडित गुणनफल निकाल रहे हैं कि जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा.
मतदाताओं की चुप्पी से परेशानी: मतदान के बाद जहां एक ओर जीत-हार पर सर्वत्र चर्चा जारी है. वहीं जनसमस्याओं पर प्रत्याशियों की चुप्पी कई लोगों को सोचने पर विवश कर दी है. विधानसभा चुनाव के बाद अपने पसंदीदा प्रत्याशियों के हार व जीत के दावों का दौर जारी है. चारों ओर मतगणना के पूर्व ही अपने राजनीति गणित के आधार पर जीत-हार का फैसले करते हुए एक-दूसरों के साथ चर्चाओं में मशगूल हैं. सभी लोग अपने समर्थित उम्मीदवार की जीत बताने में पीछे नहीं हट रहे हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*