Friday , 14 December 2018
Breaking News

इस माह पांच ग्रह बदलेंगे चाल : गुरु उदय आज, 16 को अस्त होंगे शनिदेव

नौ ग्रहों की मंत्रिपरिषद में इस माह पांच से अधिक ग्रहों की चाल में परिवर्तन होगा. वहीं शनि ग्रह 16 दिसंबर को अस्त हो जाएगा. ऐसी कम ही संभावना रहती है, जब पांच ग्रह एक महीने में एक साथ अपनी चाल बदलें. ज्योतिषविदों का दावा है कि ग्रहों का यह परिवर्तन राजनीतिक अस्थिरता समाप्त होने के साथ गरीब तबके के लिए शुभ है.

ज्योतिषियों के अनुसार 9 दिसंबर को शाम 4:30 बजे गुरु उदय होगा, जबकि 16 दिसंबर को सुबह 9:09 बजे सूर्य धनु राशि में प्रवेश करेगा. इन दो ग्रहों के चाल बदलने के साथ ही 16 दिसंबर को ही शाम 7:52 शनि अस्त होगा. उधर, 23 दिसंबर को मंगल दोपहर 12:56 बजे मीन राशि में प्रवेश करेगा. ग्रहों का यह फेरबदल उद्योगपति व व्यवसायियों के लिए शुभ बताया गया है. उपभोक्ताओं की क्रय शक्ति बढ़ने के साथ व्यापारिक लेन-देन अधिक होगा.

ग्रहों की यह चाल बदलने से राजनीतिक अस्थिरता भी समाप्त होने और आदिवासी-गरीब तबके के लिए भी शुभ के संकेत हैं. ज्योतिषियों की गणना के मुताबिक ग्रहों की मंत्रिपरिषद में एक साथ पांच राशियों के फेरबदल का असर विभिन्न राशियों पर सीधा पड़ेगा. इसमें मेष, तुला, मकर और मीन राशि के लिए उत्साहवर्धन के साथ सकारात्मक परिणामों वाला रहने के संकेत दिखाई दे रहे हैं, जबकि शेष राशियों पर असर मिला-जुला रहेगा.

16 दिसंबर को शनि ग्रह होगा अस्त

16 दिसंबर को ही शनि ग्रह के अस्त होने से राजनीति क्षेत्र में उथल-पुथल के योग बन सकते हैं. 23 दिसंबर को मंगल ग्रह मीन राशि में प्रवेश करेगा. 25 दिसंबर को गुरु अनुराधा नक्षत्र से ज्येष्ठा नक्षत्र में प्रवेश करेगा जिससे मनुष्य जीवन में संघर्ष बढ़ेगा. ज्योतिषियों के अनुसार जब-जब ग्रहों का राशि परिवर्तन होता है एवं अस्त एवं उदय होता है तब-तब ग्रह अपना प्रभाव दिखाते हैं.

जानिए किस राशि पर क्या रह सकता है प्रभाव

ज्योषविदों के मुताबिक ग्रहों की चाल में यह परिवर्तन मेष, तुला, मकर एवं मीन राशि के जातकों के लिए धन लाभ, राजकार्यों में सुदृढ़ता मिलने के साथ यात्रा योग, व्यापार और नौकरी में नवीन अवसर के लाभ होंगे. इस दौरान मित्राें से लाभ के साथ धार्मिक कार्यों में रुचि बढ़ने की भी संभावनाएं रहेंगी. इसके साथ ही कई राशियां एेसी हैं, जिस पर ज्याेतिष गणना के अनुसार नकारात्मक प्रभाव भी संभावित नजर आ रहा है. इसमें सिंह राशि, वृषभ, मिथुन, कुंभ व कर्क के अलावा धनु राशि के साथ शेष राशियों पर हानि, कामकाज में रुकावट के साथ व्यापार में दुविधा की स्थिति रह सकती है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*