Saturday , 25 May 2019
Breaking News

हत्या करने के बाद किया डोडा-चूरा का नशा, टेलर मास्टर के बेटे की हत्या करने वाला रिमांड पर

उदयपुर. सरे बाजार दुकान में घुसकर टेलर मास्टर के बेटे की चाकू से गोद कर नृशंस हत्या करने के बाद आरोपी वहां से स्कूटी लेकर भागा और सीधा रेलवे स्टेशन कच्ची बस्ती गया, वहां पर डोडा-चूरा का नशा करने के बाद ढीकली में अपने दोस्त के घर चला गया. हत्या करने वाला आरोपी काफी शातिर प्रवृत्ति का है. इसे हत्या के एक मामले में पूर्व में भी सजा हो चुकी है. आज अदालत ने आरोपी को तीन दिन के पुलिस रिमांड पर रखने के आदेश दिए.

घंटाघर थानाधिकारी लक्ष्मण विश्रोई ने बताया कि गत दिनों गायत्री नगर सेक्टर-5 निवासी सतपाल सिंह पुत्र गोवर्धन सिंह तंवर ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि वह और उसका बेटा दिनेश सिंह उर्फ कान्हा तंवर (32) दुकान पर बैठ कर काम कर रहे थे, इसी दौरान दुकान मालिक उदय सिंह मेहता का भतीजा चंद्रा कॉलोनी पुराना आरटीओ ऑफिस ढीकली रोड़ प्रतापनगर निवासी प्रिंस उर्फ राजकुमार मेहता पुत्र नाथू सिंह मेहता आया और उसने दुकान खाली करने के विवाद के चलते सतपाल के बेटे दिनेश सिंह पर चाकू से सात वार किए, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. गिरफ्तार आरोपी राजकुमार उर्फ प्रिंस को आज अदालत में पेश किया जहां उसे 23 अप्रेल तक पुलिस रिमांड पर रखने के आदेश दिए.

थानाधिकारी ने बताया कि आरोपी हत्या करने के बाद स्कूटी लेकर रेलवे स्टेशन कच्ची बस्ती गया, जहां से अपने मित्र के साथ डोडा-चूरा का नशा किया, उसके बाद ढीकली प्रतापनगर के लिए रवाना हो गया. जहां पर अपने दोस्त जो पेशे से ड्राईवर है उसके घर चला गया. एक दिन वहीं छिपता रहा, अगले दिन वह पुलिस से अपनी मौजूदगी छिपाने के लिए सिर पर गमछा बांध कर घूम रहा था, इसी दौरान प्रतापनगर थाने के कांस्टेबल को सूचना मिली कि आरोपी ढीकली चौराहे की ओर घूम रहा है. इस पुख्ता सूचना के आधार पर प्रतापनगर थाने के कांस्टेबल के सहयोग से घंटाघर थानाधिकारी लक्ष्मण विश्रोई के नेतृत्व में मय टीम ने आरोपी को दबोचा और उससे आज अदालत में पेश किया जहां उसे 23 अप्रेल तक रिमांड पर रखने के आदेश दिए. रिमांड अवधि के दौरान आरोपी से उसके चाचा उदय सिंह मेहता के साथ दुकान खाली कराने के लिए यह षडय़ंत्र तो नहीं किया गया और वारदात में उपयोग में लिया चाकू, स्कूटी बरामद की जाएगी और घटनास्थल की तस्दीक की जाएगी तथा मामले में और कौन लिप्त है इस संदर्भ में पता लगाया जाएगा. फिलहाल पुलिस ने भादसं की धारा 302, 452 व 120 बी के तहत मामला दर्ज कर जांच कर रही है.

हत्या के दो मामले सहित नौ मामले दर्ज :

थानाधिकारी ने बताया कि आरोपी प्रिंस उर्फ राजकुमार मेहता काफी शातिर अपराधी है. इसके लिए घंटाघर थाने में 20 जनवरी 1992 को और इसी थाने में 11 अक्टूबर 2015 को और धानमंडी थाने में 26 मई 1998 को जानलेवा हमले के मामले दर्ज हुए है. इसके अलावा घंटाघर थाने में ही 24 जुलाई 1999 को आम्र्स एक्ट के तहत, 22 जुलाई 1999 को 160 आम्र्स एक्ट में सजा भी हुई है. गोवर्धन विलास थाने में 20 जून 2000 को दर्ज हत्या के मामले में भी आरोपी को सजा हो चुकी है. इसके अलावा सुखेर में आम्र्स एक्ट की धारा 3/25 और घंटाघर में 17 जुलाई 2016 को दर्ज हुए जानलेवा हमले के मामलों में लिप्त है. इसके अलावा हाल ही में घंटाघर थाने में हत्या का मामला भी आरोपी के खिलाफ जुड़ गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline
Inline