Saturday , 25 May 2019
Breaking News

सडक़ सुरक्षा जागरुकता अभियान पहुंचा उदयपुर शहर के 1700 से अधिक कॉलेज छात्रों ने सीखा सडक़ सुरक्षा का महत्व

उदयपुर. आने वाले कल को सुरक्षित बनाने के लिए युवाओं को सडक़ सुरक्षा के बारे में जागरुक बनाना बेहद महत्वपूर्ण है, इसी विश्वास के साथ होण्डा मोटरसाईकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्रा. लि. ने पहली बार उदयपुर में अपने सडक़ सुरक्षा जागरुकता सामाजिक अभियान का आयोजन किया. इंडो-अमेरिकन कॉलेज में आयोजित इस जागरुकता शिविर में 1700 से अधिक छात्रों को सडक़ सुरक्षा के महत्व पर जागरुक बनाया गया.

होण्डा मोटरसाईकल एण्ड स्कूटर इण्डिया प्रा. लि. के ब्राण्ड एण्ड कम्युनिकेशन के वाईस प्रे$जीडेन्ट प्रभु नागराज ने कहा कि देशभर के युवा कॉलेज छात्रों को सुरक्षित राइडिंग के बारे में जागरुक बनाने के उद्देश्य को लेकर होण्डा ने जनवरी में राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा जागरुकता अभियान की शुरूआत की. होण्डा हर महीने देश के 10 कॉलेजों के 15,000 से अधिक छात्रों को सडक़ सुरक्षा के बारे में जागरुक बना रही है. होण्डा की यह कोरपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व पहल 31 शहरों के 66,000 से अधिक कॉलेज छात्रों को पहले से शिक्षित कर चुकी है. जयपुर और भीलवाड़ा के बाद उदयपुर राजस्थान का तीसरा शहर है जहां होण्डा ने यह आयोजन किया है.

प्रभु नागराज ने कहा कि सडक़ सुरक्षा होण्डा के कोरपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व का मुख्य स्तंभ है. आज के युवा आने वाले समय के दोपहिया राइडर होंगे. हमें खुशी है कि उदयपुर से 1700 से अधिक युवाओं ने इस कैम्प में हिस्सा लिया. कैम्प में होण्डा के कुशल इंस्ट्रक्टर्स ने छात्रों के लिए थ्योरी सेशन आयोजित किए, जिनमें उन्हें सडक़ नियमों, यातायात संकेतों तथा सुरक्षित राइडिंग के लिए शिष्टाचार जैसे वाहन चलाते समय सही मुद्रा आदि के बारे में जानकारी दी गई.  वे छात्र जो पहले से वाहन चलाते हैं, उन्हें स्लो राइडिंग गतिविधियों और संकरे पथ पर वाहन चलाने का प्रशिक्षण दिया गया. खासतौर पर महिलाओं के लिए तैयार किए गए ड्रीम राइडिंग प्रोग्राम के तहत 45 छात्राओं को मात्र 4 घण्टे के अंदर स्वतन्त्र रूप से दोपहिया वाहन चलाने का प्रशिक्षण दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline
Inline