Wednesday , 17 July 2019
Breaking News

सबसे बड़ा मैसेजिंग एप : इजरायल की कंपनी वॉट्सएप की वॉयस कॉल से फोन हैक करती थी 

  वाट्सएप सबसे ज्यादा लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला मैसेंजर एप है. दुनिया में करीब 150 करोड़ लोग इसके जरिए संदेश भेजते और रिसीव करते हैं. अब खुलासा हुआ है कि इस एप में सुरक्षा से जुड़ी एक खामी थी. इसका फायदा उठाकर हैकर कॉल के जरिए यूजर के मोबाइल में स्पाई वेयर डालते थे. इससे वे फोन में मौजूद तमाम सूचनाएं हासिल कर लेते थे. यह स्पाई वेयर इजरायल की फर्म एनएसओ ग्रुप ने बनाया था. इस ग्रुप पर मध्यपूर्व एशिया से लेकर मैक्सिको तक एक्टिविस्ट और पत्रकारों की जासूसी कर सरकारों को मदद देने का आरोप लग चुका है.

इस खबर का खुलासा फाइनेंशियल टाइम्स ने किया. इसके बाद फेसबुक की स्वामित्व वाले वाट्सएप की इस खामी को दूर किया गया. पिछले शुक्रवार को एप का अपडेटेड वर्जन जारी किया गया है. जिन लोगों के पास वाट्सएप का पुराना वर्जन है, कपंनी उन्हें एप को अपडेट करने की सलाह भी दे रही है. न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक हैकर्स द्वारा वाट्सएप के जरिए यूजर के फोन में इंस्टॉल किए गए कोड एनएसओ के अन्य कोड से काफी मिलते-जुलते थे. ताजा मामले की जानकारी इस महीने की शुरुआत में मिली. कंपनी ने 10 दिन के अंदर इसे ठीक कर अपडेट जारी कर दिया था.

कॉल नहीं रिसीव किया तो भी फोन में आया स्पाई वेयर
हैकर टार्गेट यूजर को वाट्सएप के जरिए वॉयस कॉल करते थे. यूजर फोन उठाए या न उठाए, स्पाई वेयर उसके डिवाइस में इंस्टॉल हो जाता था. इसके बाद कॉल लॉग से वह कॉल गायब भी हो जाता था. इस तरह आम तौर पर यूजर को पता भी नहीं चलता था कि उसका फोन हैक हो गया है.
पहली बार 2016 में सुर्खियों में आया था एनएसओ ग्रुप
एनएसओ ग्रुप सबसे पहले 2016 में सुर्खियों में आया था. तब पता चला था कि यह संयुक्त अरब अमीरात की सरकार के साथ मिलकर लोगों के फोन हैक करता है. एनएसओ का सबसे मशहूर प्रोडक्ट पेगासस है. इस टूल के जरिए टार्गेट यूजर के फोन का कैमरा व माइक्रोफोन ऑन कर सकते हैं.
एप और ऑपरेटिंग सिस्टम अपडेट करने की सलाह
फेसबुक की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ‘हम यूजर्स से एप को अपग्रेड करने की सलाह दे रहे हैं. साथ ही उनसे ऑपरेटिंग सिस्टम भी अप टू डेट रखने को कहा गया है.’ कंपनी ने कहा कि यह स्पाई वेयर काफी उन्नत किस्म का है और चुनिंदा लोगों को ही निशाना बनाया गया होगा. ज्यादातर यूजर प्रभावित नहीं हुए होंगे.
आतंकवाद रोकने के लिए काम करते हैं: एनएसओ
मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए एनएसओ ने कहा-वह आतंक और अपराध रोकने के लिए सरकारों के साथ काम करती है. कंपनी ने कहा कि-हम काफी जांच-परख करने के बाद लाइसेंस जारी करते हैं. लोगों की सुरक्षा के लिए हम टेक्नोलॉजी तैयार करते हैं. गलत इस्तेमाल होने पर एक्शन लिया जाता है.

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News