Saturday , 25 May 2019
Breaking News

मैरिट के आधार पर कॉलेज अलॉट फिर भी गीतांजलि मेडिकल कॉलेज ने प्रवेश से किया इनकार

जयपुर, 16 मई (उदयपुर किरण). राजधानी जयपुर में बुधवार को मेडिकल एडमिशन काउंसलिंग बोर्ड की बैठक में एक छात्र ने बोर्ड के सभी सदस्यों को मेडिकल कॉलेज में प्रवेश नहीं देने की शिकायत दी. छात्र ने बताया कि काउंसलिंग में कॉलेज अलॉट होने के बावजूद गीतांजलि मेडिकल कॉलेज ने उसे प्रवेश देने से मना कर दिया हैं. शिकायत के बाद बोर्ड की बैठक में गहमागहमी का माहौल बन गया. अभ्यर्थी ने कड़े शब्दों में गीतांजलि कॉलेज की सदस्यों के सामने मौखिक और लिखित शिकायत की.
काउंसलिंग बोर्ड के चेयरमैन डॉ. सुधीर भंडारी ने बताया कि गीतांजलि मेडिकल कॉलेज के खिलाफ एक कैंडीडेट ने शिकायत दी है. इस मामले को फिलहाल एग्जामिन किया जा रहा हैं. मामले की पूरी जानकारी जांच रिपोर्ट के आधार की जाएगी. इसी आधार पर कॉलेज पर कार्रवाई की जाएगी. जानकारी के अनुसार प्रदेश में इन दिनों एमडी, एमएस कोर्सेज, मेडिकल पीजी कोर्स की काउंसलिंग चल रही हैं. काउंसलिंग का मॉप-अप राउंड पूरा हो चुका है. बोर्ड ने अभ्यर्थियों को मैरिट और प्रिफरेंस के आधार पर कॉलेज अलॉट कर दिये है. छात्र ने काउंसलिंग बोर्ड की बैठक में बताया कि उसे काउंसलिंग बोर्ड ने गीतांजलि कॉलेज के जनरल मेडिसिन कोर्स में प्रवेश के लिए सीट का चयन किया था. काउंसलिंग के बाद कॉलेज अलॉट होने पर उसने नियमानुसार काउंसलिंग बोर्ड में अपने सभी डॉक्यूमेंट्स जमा करवा दिए. लेकिन फीस जमा करवाने और बैंक गारंटी की प्रक्रिया पता करने गया तो कॉलेज ने उसे मेडिसिन कोर्स में प्रवेश देने से मना कर दिया. इस पर छात्र ने बोर्ड से शिकायत कर अपने दस्तावेज वापस मांगे. छात्र ने कहा कि कॉलेज में प्रवेश नहीं मिलने पर उसे अन्य किसी दूसरे कॉलेज में भी प्रवेश नही मिल पाएगा.
बैठक में छात्र की पूरी बात सुनने के बाद बोर्ड चेयरमैन डॉ. सुधीर भंडारी और दूसरे सदस्यों ने चर्चा कर नियमों से अलग छात्र की परेशानी को समझते हुए उसके दस्तावेज वापस करने का निर्णय लिया हैं. इसके साथ ही बोर्ड ने मेडिकल कॉलेज के खिलाफ इस मुद्दे पर जांच करने की बात कही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline
Inline