Wednesday , 17 July 2019
Breaking News

डब्बा ट्रेडिंग के ठिकाने पर पुलिस का छापा, चार गिरफ्तार

चित्तौड़गढ़, 13 जून (उदयपुर किरण). शहर की कोतवाली थाना पुलिस ने अवैध रूप से वायदा व्यापार एवं अनाधिकृत रूप से स्टॉक तथा कमोडिटी एक्सचेंज चलाने के मामले में चार आरोपितों को गिरफ्तार कर 14 मोबाइल, तीन कंप्यूटर के सीपीयू व दो लेपटोप जप्त किए हैं.
पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल ने बताया कि जरिए मुखबीर सूचना मिली की चित्तौड़गढ़ के गांधीनगर सेक्टर 5 मजिस्ट्रेट कॉलोनी के पीछे एक मकान में ऑनलाइन अवैध सट्टे का कारोबार चल रहा है. मुखबिर की सूचना विश्वसनीय होने से सदर थानाधिकारी नवनीत बिहारी व्यास ने पुलिस टीम हैड कांस्टेबल सुनील कुमार व कांस्टेबल पुष्पेंद्र सिंह एवं प्रवीण के साथ मौके पर पहुंच तलाशी ली गई. यहां गांधीनगर स्थित मकान के एक कमरे में एक टेबल पर तीन कंप्यूटर मॉनिटर तथा पास में दो लेपटोप चालू हालत में पाए गए. यहां चार व्यक्ति उन कंप्यूटर पर काम करते व मोबाइल पर बात करते हुए कुछ हिसाब नोट कर रहे थे. कंप्यूटर स्क्रीन पर ऑनलाइन एनसीडीएक्स वगैरा की वेबसाइट खुली हुई थी तथा उन पर गोल्ड, सिल्वर, कॉपर एवं शेयरों के भाव की जानकारी चल रही थी. साथ ही पास में पड़े स्लीप पेड (सौदा बुक) के कागजों पर विभिन्न कंपनियों के इक्विटी एवं शेयरों के की समय के साथ रेट लिखी हुई थी. दीवार पर टीवी पर ऑस्ट्रेलिया पाकिस्तान का क्रिकेट मैच चल रहा था. क्रिकेट सट्टे की संभावना पर टेबल पर रखे फोन एवं कागजों को चेक किया तो क्रिकेट सट्टे बाबत कोई आपत्तिजनक वस्तु नहीं मिली. मौके पर गांधीनगर सेक्टर नंबर 4 चित्तौड़गढ़ निवासी कुसुम कांत पुत्र रमाकांत शर्मा, रतलाम (मध्य प्रदेश) निवासी सचिन पुत्र आनंदीलाल चौहान, रतलाम निवासी राहुल पुत्र नरेंद्र जैन एवं रतलाम निवासी प्रतिक राव पुत्र रमेश राव पाटील मिले, जिनसे उक्त व्यापार के संबंध में पूछा गया.
उन्होंने कमोडिटी एवं शेयरों का व्यापार वहां के मालिक संदीप सेठिया द्वारा किया जाना बताया तथा स्वयं का वेतन पर काम करने की जानकारी दी. यहां मौजूद चारों शख्स ने ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग संबंधी विधिवत लाइसेंस या अधिकृत संस्था से अनुमति बाबत पूछा तो नहीं होना बताया. प्रारम्भिक पूछताछ में एवं मौके के हालातों से चारों आरोपियों अवैध रूप से वायदा व्यापार एवं अनधिकृत रूप से शेयर स्टॉक एक्सचेंज चलाना तथा ग्राहकों के साथ अवैध रूप से शेयर बाजार, कमोडिटी, वायदा व सट्टा कर धोखाधड़ी करना पाया गया. इस पर इनके विरुद्ध धारा 420, 120 बी आईपीसी, 3/4 आरपीजीओ, 20, 21 फॉरवर्ड कॉन्ट्रैक्ट ट्रेडिंग रेगुलेशन एक्ट, 23(1) सिक्योरिटी कांटेक्ट रेगुलेशन एक्ट व 66 डी आईटी एक्ट का अपराध पाया जाने पर प्रकरण दर्ज कर लिया. मौके से 14 मोबाइल, तीन सीपीयू, दो लैपटॉप व एक 500GB की हार्ड डिस्क, सौदा लिखे हुए 101 पन्ने जप्त कर अभियुक्तों के खिलाफ कोतवाली थाने में प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जा रहा है.
प्रारंभिक अनुसंधान तथा पुलिस द्वारा मौके से बरामद सौदा पन्नों एवं टेलीफोन रिकॉर्डिंग की जांच से पता चला कि मुख्य डब्बा ऑपरेटर संदीप सेठिया है. उक्त संदीप सेठिया द्वारा पैरेलल स्टॉक एक्सचेंज/ कमोडिटी एक्सचेंज चलाया जा रहा था तथा बड़े पैमाने पर इक्विटी डेरिवेटिव्स, कमोडिटी डेरिवेटिव्स एवं एग्रीकल्चर डेरिवेटिव में काम किया जा रहा था. ग्राहक के किसी भी सौदे को वैधानिक एक्सचेंज (एनएसई बीएसई एनसीडीईएक्स व एमसीएक्स) के किसी भी सॉफ्टवेयर में पंच नहीं किया गया था. सरकार को सर्विस टैक्स, एज्युकेशन सेल्स, सिक्योरिटी ट्रांजैक्शन टैक्स (STT) एवं अन्य टैक्सेस की हानि पहुंचाई जा रही थी.

प्रतिदिन पांच करोड़ का टर्न ओवर

पुलिस जांच में खुलासा हुवा कि आरोपित संदीप सेठिया करीब 10 साल से चित्तौड़गढ़ शहर में डब्बा ट्रेडिंग का काम किया जा रहा था. इसका अनुमानित डेली टर्न ओवर करीब 5 करोड़ रुपये प्रतिदिन था. आरोपित संदीप सेठिया के ग्राहकों में भीलवाड़ा, नीमच, रतलाम तथा इंदौर तक के ग्राहक शामिल है.

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News