Wednesday , 19 June 2019
Breaking News

जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल से हलकान हुए मरीज

पटना, 14 जून (उदयपुर किरण). बिहार के जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल का असर शुक्रवार को पटना के अस्पतालों पर भी पड़ा. शुक्रवार को  इमरजेंसी सेवा को छोड़ कर तमाम सरकारी अस्पतालों में सारी सेवाएं ठप हो गईं. कोलकाता के नीलरतन सरकार मेडिकल कॉलेज एंव अस्पताल में जूनियर डॉक्टरों पर हुये हमले के खिलाफ हाथों में तख्तियां लेकर पटना के सरकारी अस्पतालों के तमाम जूनियर डॉक्टर अनिश्चितकालीन  हड़ताल पर चले गये हैं. ये लोग अस्पातल परिसर में डॉक्टरों की हिफाजत की मांग कर रहे हैं. जूनियर डॉक्टरों ने साफ तौर पर कह दिया है कि जब तक उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं किये जाते  तब तक वे हड़ताल समाप्त नहीं करेंगे.

जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने की सूचना देते हुए पीएमसीएच में जेडीए के अध्यक्ष डॉ. शंकर भारती ने बताया कि हड़ताल की स्थिति में आईसीयू और इमजेंसी को छोड़ कर कहीं काम नहीं किया जायेगा. तमाम जूनियर डॉक्टर पश्चिम बंगल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के रवैये से नाराज हैं.

जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल का असर पीएमसीएच व  एनएमसीएच  में स्पष्ट तौर पर दिखा. इमरजेंसी सेवा को छोड़ कर सभी जगह गतिविधियां ठप रहीं. इस वजह से मरीज और उनके परिजन हलकान होकर इधर-उधर घूमते रहे. बहुत सारे मरीज ओपीडी सेवा के पास एक दूसरे से पूछते रहे कि यह सेवा बंद क्यों है. अमूमन सभी विभागों के ओपीडी का यही हाल था. सबसे अधिक परेशानी इलाज के लिए दूरदराज से आनेवाले मरीजों को हो रही है. उन्हें यह भी पता नहीं है कि यह हड़ताल कब तक चलेगी. उनकी समझ में नहीं आ रहा है कि वे यहां रहें या वापस चले जायें. इस संबंध में अस्पताल प्रशासन से पूछने पर भी उन्हें कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिल रहा है.

सरकारी अस्पतालों में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल की वजह से निजी अस्पतालों के संचालकों की चांदी कट रही है. बड़ी तादाद में मरीज इलाज के लिए निजी अस्पतालों में जा रहे हैं. इस काम में बिचौलिये अहम भूमिका निभा रहे हैं. निजी अस्पतालों के बिचौलियों की सक्रियता सरकारी अस्पतालों में कुछ ज्यादा ही बढ़ गयी है.

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News