Wednesday , 19 June 2019
Breaking News

बारह घंटे तक शव को रहा अंतिम संस्कार का इंतजार, तीन थानों की पुलिस उलझी क्षेत्राधिकार में

जोधपुर, 14 जून (उदयपुर किरण). कमिश्नरेट पुलिस कितनी सजग है इस बात की जानकारी तो हमें इस बात से ही लग जाती है कि किसी व्यक्ति की दुर्घटना में दुखद मौत के बाद भी शव को अंतिम संस्कार के लिए बारह घंटे का इंतजार करना पड़ सकता है. ऐसी ही घटना शुक्रवार हो गई. गुरुवार देर रात एक कशीदा कारीगर की सडक़ दुर्घटना में मौत हो गई. शहर की तीन थाना पुलिस इस बारे में उलझती रही कि आखिर क्षेत्र किसका है. शुक्रवार दोपहर में तीन थानों की पुलिस फिर अस्पताल पहुंच गई. आखिरकार रातानाडा पुलिस की तरफ से यह कार्रवाई की गई.

दरअसल बाड़मेर के गुड़ामालानी हाल माता का थान में अपने रिमडमल राम के साथ रहने वाला 35 साल का भीमाराम पुत्र खेताराम भील पेशे से कशीदा कारीगर था. वह गुरुवार की रात को अपने घर से 11 बजे ऑयल खरीदने के लिए निकला था. बीच रास्ते उसने एक ढाबे पर खाना खाया और अपनी स्कूटी पर बैठकर डिगाड़ी वाले रास्ते से घर को जाने लगा.

तब बताया जाता है कि डिगाड़ा चौराहा से वाल्मिकी बस्ती के बीच किसी वाहन से बचने के प्रयास में उसकी स्कूटी डिवाइडर से टकरा गई और वह गंभीर रूप से घायल हो गया. तब उसे मथुरादास माथुर अस्पताल ले जाया गया. मगर देर रात एक बजे करीबन उसकी मौत हो गई. इस पर एमडीएमएच चौकी की तरफ से बनाड़ पुलिस को सूचना दी गई. तब मामला रातानाडा थाने का बता दिया गया. इस पर आज सुबह 11 बजे तक शव मोर्चरी में पड़ा रहा और परिजन शव की कार्रवाई को लेकर पुलिस के चक्कर काटते रहे. फिर पता लगा कि मामला महामंदिर थाना क्षेत्र का है. तब महामंदिर पुलिस को भी सूचना भेजी गई. इस पर महामंदिर, बनाड़ एवं रातानाडा पुलिस एमडीएमएच मोर्चरी में पहुंच गई. बाद में तय हुआ कि मामला रातानाडा थाने हलके का है. दोपहर एक बजे कार्रवाई कर शव को परिजन को सौंपा गया.

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News