Wednesday , 19 June 2019
Breaking News

उदयपुर में रथयात्रा चार जुलाई को

उदयपुर, 14 जून (उदयपुर किरण). उदयपुर के प्रसिद्ध जगदीश मंदिर से चार जुलाई को निकलने वाली भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा की तैयारी शुरू हो गई है. इस रथयात्रा में भगवान जगदीश को रजत रथ में बिराजमान कराकर प्राचीन शहरकोट के अंदर बसे शहर का भ्रमण कराया जाता है. रथयात्रा में उदयपुर का हर समाज अपना सहयोग करता है, यहां तक कि शहर के मुस्लिम और बोहरा समुदाय भी इस आयोजन में जुड़ाव रखता है. लेकिन, रथयात्रा मार्ग से जुड़े अन्य मार्गों पर कुछ स्थानों पर स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे कार्यों के चलते गड्ढे पड़े हुए हैं. इससे श्रद्धालुओं में रोष है. उनका कहना है कि रथयात्रा के समय रथयात्रा के मुख्य मार्ग सहित आसपास की गलियों तक में भीड़ रहती है, ऐसे में वहां गड्ढे भरे नहीं गए तो हादसे की आशंका बनी रहेगी.
रथयात्रा में महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान करने वालों में से प्रमुख समाज संगठन पुजारी परिषद, धर्मोत्सव समिति, रथ समिति, अन्नक्षेत्र मानव सेवा समिति, मेवाड़ सेना, ओम सांई राम, सांई इच्छा समिति बजरंग सेना मेवाड़, मेवाड़ प्रताप दल, शूलधारिणी सेना, महाकाली सेना, शिव सेना, गायत्री शक्ति पीठ, श्री कल्लाजी बावजी सेना समिति, श्री असावरा माता समिति, हिन्दू महासेना, श्रीराम सेना, मेवाड़ सिन्धु ब्रिगेड, श्री झूलेलाल सेना समिति, गाइड यूनियन, विप्र फाउण्डेशन, श्री सगसजी बावजी समिति, श्री मैढ़ स्वर्णकार समाज, राजपूत विकास संस्थान, राजपूत महासभा, कायस्थ महासभा, श्रीमाली ब्राह्मण समाज, जीनगर समाज, वैष्णव समाज, खारोल समाज, श्री नामदेव सेवा समिति, अग्रवाल समाज, खण्डेवाल समाज, श्री करणी माता सेवा समिति, महादेव सेना, देव सेना सहित कई मित्र मण्डल तैयारियों में जुट गए हैं. यात्रा मार्ग में पडऩे वाले व्यापार मण्डलों से रथयात्रा के स्वागत में लगने वाले स्टालों एवं रथयात्रा के मार्ग में आने वाली समस्याओं पर चर्चा की जा रही है. उनके समाधान के लिए आयोजन समिति का प्रतिनिधि मण्डल अलग-अलग सम्पर्क कर रहे हैं. रथयात्रा को पूर्ण अनुशासन एवं समय पर शुरू करने एवं समय पर खत्म करने के ठोस प्रयास किए जा रहे हैं. इसके लिए समिति के पुराने एवं अनुभवी सदस्यों को अलग-अलग जिम्मेदारी सुपुर्द कर दी गई है.
स्मार्ट सिटी के तहत मुख्य यात्रा मार्ग से जुड़ाव रखने वाले मार्गों में जगह-जगह सीवरेज के लिए खोदे गये गड्ढों को लेकर पूर्व में जानकारी देने के बावजूद भी नये गड्ढे खोदे जा रहे हैं. समय पर कार्य पूरा नही होने की स्थिति में भारी असुविधा का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे में समिति ने नगर निगम और जिला प्रशासन से मार्ग को समय रहते दुरुस्त करने की जरूरत बताई है. लेकिन, प्रशासन की ओर से ठोस आश्वासन नहीं मिलने पर रोष बढ़ रहा है.
गौरतलब है कि पूर्व में सन् 2001 में यात्रा मार्ग से विद्युत तार व अन्य केबल तार नहीं हटाने पर जनता का रोष फूटा था और संबंधित अधिकारी पर गुस्सा उतरा था. तब उस अधिकारी को नंगा करके मंदिर की सीढिय़ों पर बिठाकर रोष प्रदर्शन किया गया था. ऐसे हालात दोबारा नहीं बने इसके लिए समिति ने प्रशासन और संबंधित अधिकारियों से सहयोग मांगा है.

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News