Wednesday , 19 June 2019
Breaking News

28 कोचिंग संस्थानों को जारी होंगे नोटिस

सिवनी, 14 जून (उदयपुर किरण). मध्यप्रदेश के सिवनी जिला मुख्यालय सहित विकासखण्ड मुख्यालयों में सैकडों कोचिंग संस्थानों का संचालन जारी है, जहाँ बीते सप्ताह सूरत में हुई घटना के बाद मध्यप्रदेश शासन ने कोचिंग संस्थानों पर संज्ञान लेते हुये जिला प्रमुखों को जाँच हेतु आदेश दिये थे. ज्ञात हो कि जिला मुख्यालय में लगभग 45 कोचिंग संस्थान चल रहे हैं और इन संस्थानों में कलेक्टर द्वारा बनाये गये दल ने पहुँचकर जाँच की थी और इसमें 28 संस्थान कमियों से परिपूर्ण हैं, जिन्हें लेकर जाँच दल ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर बीते 10 जून 2019 को जिले के मुखिया प्रवीण सिंह अढायच को सौंप दी है.
हिस को मिली जानकारी के अनुसार प्रस्तुत की गई रिपोर्ट में 28 ऐसे संस्थानों का उल्लेख किया गया है जो कि प्रावधान विपरीत व सुविधाओं से दूर होकर संचालित हो रहे हैं. ऐसे संस्थानों को जिला प्रशासन की ओर से नोटिस दिये जाने की तैयारी की जा रही है. जानकारी के अनुसार इन नोटिस के जवाब संतोषप्रद न हुये तो कोचिंग संस्थानों के विरूद्ध विधिसंगत कार्यवाही की जायेगी.
इस संबंध में स्‍थानीय लोगों का कहना है कि यदि सूरत में घटना नहीं हुई होती तो शायद मध्यप्रदेश शासन के कोई आदेश जारी नहीं होते और न ही जिला स्तर पर इस तरह की जाँच हो पाती. सिवनी जिले में भी सूरत की घटना के बाद पहली बार कोचिंग संस्थानों पर जाँच की पहल की गई है. अब देखना यह है कि कितने कोचिंग संस्थान के विरूद्ध प्रशासन ठोस एवं कडी कार्यवाही कर पाता है जो कि लंबे समय से आर्थिक लाभ कमाने के लिये विद्यार्थियों की सुरक्षा को दरकिनार कर व्यापार कर रहे हैं.
कोचिंग संस्थानों में नियम हुए दरकिनार
एनबीसी के फायर एण्ड लाईफ सेफ्टी नियम 2016 हर उन संस्थाओं में लागू हैं जहाँ 20 या 20 से अधिक बच्चे अध्ययन करते हैं या रहते हैं. देखा जाये तो फायर एण्ड सेफ्टी नियमों का पालन कोई भी कोचिंग संस्थान नहीं कर रहा है. नियमों को दरकिनार कर शिक्षा के व्यापार में लिप्त कोचिंग संस्थानों पर अब जिला प्रशासन की नजर पड गई है. सिवनी कलेक्टर को यह चाहिए कि समय-समय पर भविष्य में भी प्रावधानिक नियमों के परिपालन में जाँच होती रहे, ताकि विद्यार्थियों की सुरक्षा इन कोचिंग संस्थानों में बनी रहे.
ये क्या कहते हैं
जाँच दल द्वारा कोचिंग संस्थानों में पहुँचकर निरीक्षण किया गया तथा निरीक्षण के दौरान 28 कोचिंग संस्थान ऐसे पाये गये हैं. जहाँ प्रावधान अनुसार अनेक कमियाँ हैं, जिसकी रिपोर्ट सिवनी कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत की जा चुकी है. अभी मैं बम्बई में हूँ, यहाँ से लौटकर इन कोचिंग संस्थानों को नोटिस दिये जाकर जवाब मांगे जायेंगे, यदि संतुष्टिपूर्ण जवाब न हुये तो कोचिंग संस्थानों के विरूद्ध विधि अनुसार कार्यवाहियां सुनिश्चित की जायेंगी.

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News