Tuesday , 16 July 2019
Breaking News

धोखाधड़ी के आरोपित भोपाल के एनजीओ संचालक को न्यायालय में किया पेश

नागदा, 13 जुलाई (उदयपुर किरण). युवाओं को ट्रेनिग देने के नाम पर लगभग 25 लाख की धोखाधडी के आरोप में फंसे Bhopal के एक एनजीओ संचालक को पुलिस ने शनिवार को न्यायालय नागदा में पेश किया. न्यायालय ने दो दिनों का रिमांड मंजूर किया. आरोपित शुभम मालवीय निवासी अभिनव हिल्स Bhopal के खिलाफ थाना नागदा में भादवि की धारा 420, 467,  468 एवं 471 में प्रकरण दर्ज है.
थाना प्रभारी श्यामचंद शर्मा के मुताबिक आरोपित को सागर से शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया था, जिसे शनिवार को अदालत में पेश किया गया. न्यायालय से पुलिस ने रिमांड मांगा था. दो दिनों के रिमांड का आदेश न्यायालय ने दिया है. उन्होंने बताया  शुमम के खिलाफ योगेश राय निवासी नागदा ने शिकायत की थी. जिसके आधार पर आरोपित पर गत 18 जुलाई को उक्त धाराओं में प्रकरण कायम किया गया था. थाने में दर्ज शिकायत के मुताबिक आरोपित शुभम नारी शक्ति महिला कल्याण समिति Bhopal का संचालक है. जिसने नागदा मेें गत वर्ष अपने एनजीआ का केंद्र स्थापित किया था. इस केद्र पर युवाओं को ट्रेनिग की योजना थी.
केंद्र की जिम्मेदारी के लिए 26 वर्षीय योगेश राय पुत्र कमल राय निवासी श्रीराम कॉलोनी नागदा को नियुक्त किया गया. नियुक्त योगेश राय ने स्कीम के लिए तकरीबन 300 युवक-युवतियों का चयन किया. इन युवक- युवकों को कोशल विकास योजना के तहत  23 मार्च 2018 से 6 जून 2018 तक ट्रेनिग दी गई. इस कार्यकम के लिए आरोपित शुभम ने केंद्र के जिम्मेदार योगेश के माध्यम से प्रत्येक प्रशिक्षक से 1500 रुपये के आधार पर 4 लाख 50 हजार की राशि बतौर रजिस्टेशन शुल्क संस्था के अकांउट में अमानत के रूप में जमा कराए. योगेश राय की शिकायत के मुताबिक  संस्था से उसका यह अनुबंध हुआ थाकि प्रशिक्षण के बाद प्रत्येक प्रशिक्षक को प्रमाणपत्र दिए जाएंगे तथा प्रत्येक प्रशिक्षक के मान से 7-7 हजार उसे अर्थात योगेश को मिलना थे. इस प्रकार कुल लगभग 21 लाख की राशि Bhopal के एनजीओं को अदा करना थी. लेकिन एनजीओ ने कोई प्रमाणपत्र प्रशिक्षक को नहीं दिए. 7 हजार प्रत्येक प्रशिक्षक  के मान से राशि भी नहीं दी गई. लगभग 6 माह का लंबा समय गुजर जाने के बाद जब योगेश को पैसा नहीं मिला तो उसने 3 जनवरी 2019 को पुलिस में शिकायत की. इस शिकायत के बाद गत 10 जुलाई को एनजीओ संचालक पर धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में  नागदा थाने में प्रकरण दर्ज किया गया. बाद में पुलिस ने उसे पकडऩे के लिए Bhopal में दबिश भी दी. लेकिन वह नहीं मिला.
दो दिन पहले पुलिस को सूचना मिली थी कि शुभम छतरपुर से Bhopal आ रहा है. जिसे शुक्रवार को सागर से पकड़ लिया. पुलिस को मानना है कि इस मामले में और भी नाम सामने आएंगे. बडें शहरों में कंपनियों के सीएसआर के नाम पर कई एनजीओ चल रहे हैं बेरोजगार युवक-युवतियों को ट्रेनिग  के नाम पर पैसा सराकर आदि से पैसा वसुलते हैँ. कई युवा तो धोखाघड़ी के शिकार भी हो रहे हैंं.

 

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News

Inline

Click & Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News