Thursday , 28 January 2021

मप्र के स्कूलों से 16 हजार शिक्षक गायब

भोपाल (Bhopal) . मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार ने 18 दिसंबर से स्कूलों को खोलने का आदेश दे दिया है. इसके बाद से स्कूल तो खुलने लगे हैं, लेकिन स्कूलों से टीचर गायब है. करीब साल भर की छुट्टी मनाने के बाद भी टीचर स्कूलों में नहीं जाना चाहते हैं.

प्रदेश में साल 2018-19 में स्कूलों में 3 लाख 20,440 शिक्षक थे. 2019-20 में स्कूलों से शिक्षकों की मांगी गई रिपोर्ट में स्कूलों में सिर्फ 3 लाख 4225 शिक्षक ही मिले. मतलब कि 16, 215 शिक्षक स्कूलों से गायब मिले. लोक शिक्षण संचालनालय की रिपोर्ट में शिक्षकों के लापता होने की बात सामने आई है. लोक शिक्षण संचालनालय ने अब सभी जिला शिक्षा अधिकारियों से शिक्षकों की जानकारी मांगी है.

  हाईकोर्ट परिसर में हुआ ध्वजारोहण

21 जिलों से लापता हैं शिक्षक

प्रदेश भर में 21 जिलों से शिक्षक लापता हैं. सबसे ज्यादा खराब स्थिति सिंगरौली जिले की है. सिंगरौली से 1090, शिवपुरी (Shivpuri)से 997 सागर से 873, देवास से 782, बड़वानी से 745, कटनी से 678, विदिशा से 738, खंडवा से 685, सीधी से 670, टीकमगढ़ से 573,उज्जैन से 548, छतरपुर से 546, झाबुआ से 502,भोपाल (Bhopal) से 06 इंदौर (Indore) से 120, निवाड़ी से 24, जबलपुर (Jabalpur)से 30, नरसिंहपुर से 49, ग्वालियर (Gwalior) से 76, धार से 119 और छिंदवाड़ा (Chhindwara) से 247 शिक्षक लापता हैं.

  कलेक्ट्रेट कार्यालय में कलेक्टर श्री सिंह ने किया ध्वजारोहण

शिक्षा मंत्री बोले लापरवाह शिक्षकों पर होगी कार्रवाई

स्कूल मंत्री शिक्षा इंदर सिंह परमार ने कहा कि स्कूल ना पहुंचने वाले शिक्षकों की मॉनिटरिंग की जा रही है. महीने की नहीं बल्कि अब हर रोज की रिपोर्ट मगाई जा रही है. सभी जिला कलेक्टर्स से शिक्षकों की रिपोर्ट मांगी जा रही है. स्कूलों से गायब रहने वाले शिक्षकों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रीवा में किया ध्वजारोहण

 

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *