बूंदी की मेज नदी में बारातियों की बस गिरी, 25 लोगों की मौत

मृतक के परिजनों को आर्थिक सहायता की घोषणा

जयपुर . बूंदी जिले में सुबह एक निजी बस के नदी में गिरने से 25 लोगों की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए. बस में बारात के लोग सवार थे. यह दुर्घटना बूंदी में कोटा-दौसा राजमार्ग पर सुबह 9 बजे के आसपास हुई. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिडला ने इस घटना को लेकर शोक जताया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हादसे पर दुख प्रकट करते हुए मृतक के परिजनों को दो-दो लाख रुपए देने की घोषणा की है.

  मध्य रेल की तत्परता से आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता हुआ सुनिश्चित

ये सहायता मुख्यमंत्री सहायता कोष से दी जाएगी. इस हादसे में बचे लोगों का कहना है कि बस के पुल को पार करने के दौरान चालक ने बस पर नियंत्रण खो दिया, जिससे यह हादसा हुआ. पुलिस अधिकारी ने बताया कि बस कोटा से सवाई माधोपुर को जा रही थी, जब पपडी गांव के निकट पुल से गुजरने के दौरान यह बेकाबू हो गई और पुल पर रेलिंग नहीं होने से मेज नदी में गिर गई. नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल ने हादसे पर दुख जताया और कहा कि मेज नदी में बस के गिरने से लोगों के निधन की खबर से दुखी हूं.

  कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 1974 पहुंची, इनमें से 1750 एक्टिव, 55 लोगों की मृत्यु

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी घटना को लेकर ट्वीट किया. गहलोत ने बताया कि मुझे बूंदी में हुए हादसे के बारे में जानकर गहरा दुख हुआ है जिसमें बस के मेज नदी में गिर जाने से करीब 25 लोगों की जान चली गई है. शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना है, जिन्होंने इस हादसे में अपने प्रियजनों को खो दिया है. मैं सभी घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.

  मेरे हाथों का रोना, कब मरेगा कोरोना

Check Also

सीएम योगी को तोड़नी पड़ी परम्‍परा, पहली बार रामनवमी पर गोरखनाथ मंदिर में नहीं

गोरखनाथ . एक बार फिर गोरक्षपीठाधीश्‍वर और सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने लोककल्‍याण के लिए परम्‍परा …