चीन की कंपनियों के 45 प्रस्तावों को मंजूरी जल्द

नई दिल्ली (New Delhi) . सरकार चीन की कंपनियों के 45 निवेश प्रस्ताव को मंजूरी देने वाली है. चीन की कंपनियों के दो अरब डॉलर (Dollar) के 150 निवेश प्रस्ताव एक साल से सरकार के पास अटके हैं. सीमा पर तनाव के चलते चीन के निवेश को लेकर सरकार ने पिछले साल सख्ती शुरू कर दी थी. स्क्रूटनी बढऩे से हांगकांग के जरिए आ रहे जापानी और अमेरिकी कंपनियों के निवेश प्रस्ताव भी फंस गए. मंजूरी वाली सूची की जानकारी रखने दो सरकारी अधिकारियों ने बताया कि 45 कंपनियों के निवेश को इजाजत सबसे पहले मिल सकती है.

  राहुल गांधी की मन की बात से पहले मोदी को चुनौती, कहा- हिम्मत है तो किसान और जॉब की बात करो

उनके मुताबिक इजाजत पाने वाले ज्यादातर निवेश प्रस्ताव राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गैर संवेदनशील माने जाने वाले मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर के लिए होंगे. ग्रेट वॉल ने जनरल मोटर्स (त्ररू) के इंडियन प्लांट को 25 से 30 करोड़ डॉलर (Dollar) में खरीदने का प्रस्ताव दिया था. चीन की सबसे बड़ी एसयूवी मैन्यूफैक्चरिंग कंपनी ने अगले कुछ वर्षों में भारत में एक अरब डॉलर (Dollar) लगाने की योजना बनाई है. उसने कहा था कि अपनी वैश्विक रणनीति के तहत वह भारत में कारोबार जमा रही है. ग्रेट वॉल का यहां इसी साल से कार बेचने शुरू करने का प्लान था और वह बैटरी से चलने वाली गाडिय़ां भी लॉन्च करने के बारे में सोच रही थी.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *