Monday , 24 September 2018
Breaking News

पत्नी के प्रति समर्पण : मधुमक्खियों के हमले में गमछे से पत्नी को बचाया, खुद को इतने डंक लगे की मौत हो गई

बांसवाड़ा. सत्संग सुनकर पैदल घर लौट रहे बुजुर्ग दंपती पर शुक्रवार सुबह रास्ते में मधुमक्खियों ने हमला कर दिया. हमले में बुरी तरह जख्मी नागसेन गांव के 70 वर्षीय कचरूनाथ रावल की मौत हो गई. उनकी पत्नी अमृत को गनोड़ा अस्पताल में ले जाया गया. जहां प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई. हादसा उस वक्त हुआ जब दंपती समीप के गांव में सत्संग सुनकर लौट रहे थे. अमृत ने मदद के लिए आवाज भी लगाई लेकिन सुबह का समय होने से आसपास कोई नहीं था. जब तक लोग आए कचरूनाथ ने दम तोड़ दिया.

बुजुर्ग कचरूनाथ पत्नी अमृत के संग गुरुवार शाम को समीप जामरा डूंगरी में आदिवासी समाज के धार्मिक कार्यक्रम में भजन-सत्संग करने गए थे. रातभर भजन-कीर्तन के बाद दोनों सुबह 7 बजे पैदल घर लौट रहे थे. भीमपुर-मोयावासा मार्ग पर एकाएक पेड़ से गिरे मधुमक्खियों के छत्ते ने दंपती पर हमला कर दिया. मक्खियों के डंक से पति-पत्नी चिल्लाने लगे लेकिन सुबह का वक्त होने से पास कोई नहीं था. कचरूनाथ अपनी चिंता छोड़ पत्नी को मधुमक्खियों से बचाने में लग गया.

उसने पहले अपने पास मौजूद गमछा से पत्नी को ढका फिर बाद में गमछा घुमाकर पत्नी को किसी तरह वहां से भगा दिया. इस दौरान सारी मधुमक्खियां कचरूनाथ पर टूट पड़ी. कई डंक लगने से कचरूनाथ मौके पर छटपटाने लगा और मौत हो गई. थोड़ी देर बाद पहुंचे ग्रामीणों ने दोनों को अस्पताल पहुंचाया, जहां जांच के बाद डॉक्टर ने कचरूनाथ को मृत घोषित कर दिया.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*