Friday , 16 November 2018
Breaking News

राजकोषीय घाटा 3.3 प्रतिशत तक ही सीमित रहेगा : जेटली

नई दिल्ली, 15 सितम्बर (उदयपुर किरण). प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वित्त मंत्रालय की शनिवार को देश की आर्थिक स्थिति की समीक्षा को लेकर एक आंतरिक बैठक में शामिल हुए. बैठक के बाद वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि उच्च आर्थिक विकास दर, महंगाई में कमी और कर संग्रह में बढ़ोतरी को देखते हुए अनुमानित आर्थिक लक्ष्य आसानी से हासिल हो जाएंगे.

जेटली ने विश्वास जताया कि देश का राजकोषीय घाटा अनुमानित सकल घरेलू आय का 3.3 प्रतिशत ही रहेगा. उन्होंने बताया कि 31 अगस्त तक तय बजट का 44 प्रतिशत खर्च किया जा चुका है. बिना किसी कटौती के साल के अंत तक पूंजीगत व्यय का बिना किसी कटौती के शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर लिया जाएगा. पत्रकारों से बातचीत में वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि आर्थिक मामलों के विभाग ने बैठक में मौजूदा आर्थिक स्थिति पर अपनी प्रस्तुति दी. इससे साथ ही प्रधानमंत्री ने उनके मंत्रालय के सभी विभागों के कामकाज की भी समीक्षा की.

उन्होंने कहा कि आर्थिक विकास की दर इस साल की शुरुआत में अनुमानित दर से ज्यादा है. महंगाई पूरी तरह से नियंत्रण में है. वस्तु एवं सेवा कर भी धीरे-धीरे कार्य सुगम हो रहा है और उपभोक्ता बाजार विस्तार कर रहा है. आने वाले महीनों में जीएसटी से होने वाली राजस्व की आमदनी में वृद्धि होना तय है. उन्हें उम्मीद है कि प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर संबंधित सरकार द्वारा तय लक्ष्य हासिल कर लिये जाएंगे.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*