क्वारेटाइन शिविर में उत्तर प्रदेश के एक मजदूर ने आत्महत्या की


जयपुर (jaipur) .लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान जिला प्रशासन की ओर से बनाए क्वारेटाइन शिविर में उत्तर प्रदेश के एक मजदूर ने आत्महत्या (Murder) कर ली. इसकी सूचना पर हडक़ंप मच गया और आलाधिकारी मौके पर पहुंचे. अभी तक आत्महत्या (Murder) के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है. लेकिन माना जा रहा है कि डिप्रेशन में आकर मजदूर ने यह कदम उठाया है.

पुलिस (Police) के अनुसार आत्महत्या (Murder) की घटना डबोक इलाके में स्थित गीतांजलि इंस्टीट्यूट में हुई यहां प्रशासन ने क्वारेटाइन शिविर बना रखा है यहां प्रवासी मजदूरों को क्वारेटाइन करके रखा गया है. उन्हीं मजदूरों में से एक विष्णु सिंह ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया. हालांकि आत्महत्या (Murder) के कारण स्पष्ट नहीं हो पाए हैं, लेकिन प्रथम दृष्टया डिप्रेशन के चलते ऐसा कदम उठाने की बात सामने आ रही है. गीतांजलि इंस्टीट्यूट में बनाए गए क्वारेटाइन हाउस में 182 मजदूरों को रखा हुआ था. 20 वर्षीय विष्णु सिंह भी इन्हीं में शामिल था. वह गुजरात के सूरत (Surat) में मजदूरी करता था. वह लॉकडाउन (Lockdown) के बाद सूरत (Surat) से अपने गांव उत्तर प्रदेश के शहादाबाद के लिए रवाना हुआ था. इस दौरान विष्णु सिंह के साथ उसके गांव के ही कुछ साथी भी थे.

  टिड्डी दल को लेकर सभी जिले हाई अलर्ट पर

लेकिन प्रशासन ने इन सभी को उदयपुर (Udaipur) में क्वॉरेंटाइन कर लिया था. विष्णु सिंह के साथ मौजूद मजदूरों के अनुसार उसने गुस्से में आकर अपना मोबाइल भी तोड़ दिया था. हालांकि वह अपने परिवार वालों से लगातार बात कर रहा था, लेकिन उसने अपने साथी मजदूरों से अपनी परेशानी का कोई कारण साझा नहीं किया था. जब सभी साथी सो गए तो विष्णु ने बिल्डिंग की चौथी मंजिल में स्थित एक कमरे में जाकर चद्दर से फांसी का फंदा बनाया और फिर आत्महत्या (Murder) कर.

  सबसे गर्म साल हो सकता है 2020, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी

Check Also

किसानों को मिलेगी कम ब्याज पर फसल रहन ऋण सुविधा, 1 जून से प्रारम्भ होगा फसली ऋण

उदयपुर (Udaipur). राजस्थान सरकार (Government) द्वारा 1 जून से सहकार किसान कल्याण योजनान्तर्गत कृृषि उपज …