चीन के हिसाब से भारत भी बढ़ाएगा वास्तविक नियंत्रण रेखा पर अपना सैन्यबल


नई दिल्ली (New Delhi). रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के साथ तनावपूर्ण माहौल के बीच चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और तीन सेनाओं के प्रमुखों के साथ बैठक की. बैठक में एलएसी के जमीनी हालात की समीक्षा कर आगे रणनीति पर विचार किया गया.

  चीन LAC से सेना को पूरी तरह हटाने पर स‍हमत

सूत्रों ने बताया कि चार घंटे से ज्यादा वक्त तक महामंथन हुआ जिसमें रक्षामंत्री ने चीन की तरफ से सैनिकों की संख्या बढ़ाने पर भारत की प्रतिक्रिया का खाका पेश किया. इस महामंथन के दौरान स्पष्ट कर दिया गया कि संघर्ष विराम के लिए बातचीत होगी, लेकिन भारतीय सेना वहां अपनी संप्रभुता से बिल्कुल भी समझौता नहीं करते हुए अपनी पकड़ कायम रखेगी.बैठक में फैसला हुआ कि इलाके में सड़क निर्माण का काम चलते रहना चाहिए और भारत अपना सैन्य दल-बल चीन के मुकाबले बढ़ाता रहेगा.

  VIDEO गिरफ्तार या सरैंडर… उठने लगे कई सवाल….

भारतीय सेना और चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी के बीच पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर हालात सामान्य करने के लिए कई बार मीटिंग हो चुकी है. हालांकि, सोमवार (Monday) तक इसमें कोई कामयाबी नहीं मिली. उससे पहले रविवार (Sunday) को भी मीटिंग हुई थी, लेकिन सूत्रों के मुताबिक कई मुद्दों पर सहमति नहीं बन पाई. संभव है कि आगे क्षेत्रीय कमांडरों के स्तर पर और भी मीटिंग होगी.

  बाबा महाकाल ने विकास दुबे को दिया जीवनदान, उज्जैन पुलिस ने किया गिरफ्तार

Check Also

रीवा अल्‍ट्रा सोलर प्रोजेक्‍ट को लेकर बयानबाजी

पीएम ने रीवा सौर ऊर्जा परियोजना को बताया एशिया में सबसे बड़ा, राहुल ने किया …