बिहार के गया में 2000 में हुए बम ब्लास्ट में शामिल आरोपी हुआ गिरफ्तार


हिसार . बिहार के गया में 2000 में हुए बम ब्लास्ट में शा‎मिल आरोपी दशरथ यादव को पुलिस ने सिरसा से गिरफ्तार कर ‎लिया है. बता दें ‎कि इस ब्लास्ट में एक पुलिस कर्मचारी की मौत हो गई थी. हालां‎कि इस मामले में दशरथ यादव पहले भी गिरफ्तार हुआ था. मगर, जमानत पर बाहर आने के बाद वह कोर्ट में पेश नहीं हुआ, जिसके बाद उसे कोर्ट ने भगोड़ा करार दे दिया था. हालां‎कि अब उसकी गिरफ्तारी की सूचना बिहार पुलिस को दे दी गई है. बता दें ‎कि गया में माओवादी संगठन से दशरथ यादव जुड़ा रहा है.

  इमरान खान के बयान पर भारत का तीखा जवाब

हालां‎कि नवंबर 2019 में वह सिरसा आ गया और यहां पंजाब बार्डर के निकट दादू गांव में शराब के ठेके पर काम करने लगा. वहीं, बिहार पुलिस ने भगोड़ा घोषित आरोपियों की लिस्ट सिरसा पुलिस को भेजी थी, जिसमें दशरथ यादव का भी नाम था. बिहार पुलिस द्वारा दी गई उसकी पहचान के आधार पर जब सिरसा पुलिस ने उसकी तलाश का अभियान चलाया तो दशरथ यादव को शराब ठेके से गिरफ्तार कर लिया. बिहार में उसके खिलाफ दो केस है. सिरसा पुलिस ने कहा ‎कि यहां उसका कोई आपराधिक रिकार्ड नहीं रहा है.

  पैट कमिंस को अभी भी आईपीएल 2020 के होने की उम्मीद

वहीं, दशरथ यादव ने बताया कि वह वर्ष 1997-98 में माओवादी संगठन के संपर्क में आया था. इसके बाद उसने एक व्यक्ति की हत्या की. पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. कुछ समय जेल में रहने के बाद कोर्ट से उसे जमानत मिल गई. इसके बाद 1998 में उसके संगठन ने एक बम ब्लास्ट की घटना को अंजाम दिया. वह भी इस घटना में शामिल था. इस ब्लास्ट में कई लोग मारे गए थे, जिसमें एक पुलिस कर्मी भी शामिल था. इसके बाद वह फरार हो गया.

  कोरोना संकट के बीच बाइडेन ने की ईरान के प्रतिबंध खत्म करने की अपील

Check Also

क्वारनटीन सेंटर से निकलकर गेहूं पिसवाने पंहुचा युवक तो पुलिस ने पीटा, किया सुसाइड

लखीमपुर. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के फरिया पिपरिया गांव से एक सनसनीखेज मामला …