सेना की गुप्त जानकारियां आईएसआई को देने का आरोपी गिरफ्तार


लखनऊ . आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) की वाराणसी इकाई और सेना की अभिसूचना शाखा ने भारतीय सेना की गुप्त जानकारियां पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के सुपुर्द करने के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. उप्र एटीएस द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया कि मिलिट्री खुफिया इकाई द्वारा एटीएस को सूचना दी गई थी कि वाराणसी का रहने वाला एक व्यक्ति अपने मोबाइल से पाकिस्तानी आईएसआई एजेन्टों के सम्पर्क में है.

  डीआरआई ने छत्तीसगढ़ में 3.1 करोड़ रुपये का गांजा जब्त किया

जानकारी के मुताबिक वाराणसी जिले के लंका थाना क्षेत्र स्थित चित्तूपुर के निवासी इदरीस अहमद के पुत्र राशिद अहमद को सेना से जुड़े फोटोग्राफ और वीडियो आईएसआई एजेंटों को भेजे जाने के आरोप में रविवार को मुगलसराय क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है. उसके पास से एक मोबाइल फोन भी बरामद हुआ है, जिसकी जांच की जा रही है. बताया जाता है कि राशिद दो बार पाकिस्तान जा चुका है और वहां उसने आईएसआई के एजेंटों से मुलाकात की थी. उसने सेना तथा सीआरपीएफ के शिविरों समेत कई महत्वपूर्ण स्थलों की टोह ली थी और इन जगहों के फोटोग्राफ्स और वीडियो आईएसआई एजेंटों को भेजे थे.

  अस्वस्थ अमर सिंह ने ट्वीट कर बिग बी से कहा- मौत से लड़ रहा हूं, टिप्पणियों के लिए क्षमा करें

इसके एवज में उसे धन और उपहार मिले थे. एटीएस ने बताया कि इदरीस अहमद से पूछतांछ की जा रही है कि अभी तक कितने स्थानों, कैम्पों की रेकी कर फोटो प्रेषित की गई है, अभी कितनी बार फोटो, वीडियों भेजने के बाद रुपये और गिफट मिलें. कहां-कहां किन स्थानों, कैम्पों की फोटो भेजने के लिये आईएसआई एजेन्टों ने कहा था और इस काम में कितने और साथी सम्मिलित है.

  कोरोना वायरस के कारण एपल के आईफोन की आपूर्ति प्रभावित हुई

Check Also

डोनाल्ड ट्रंप के सम्मान में सड़क पर महारास के आयोजन पर कलाकारों ने जताई आपत्ति

मथुरा. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के स्वागत में आगरा की सड़कों पर ब्रज संस्कृति की …