Tuesday , 19 January 2021

अडानी समूह ने कहा , गांगुली ही रहेंगे ब्रैंड एम्बेसडर


अडानी समूह ने फॉर्च्यून ब्रैंड के राइस ब्रान कुकिंग ऑयल के विज्ञापन से भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को हटाये जाने की खबरों को गलत बताया है. अडानी समूह की कंपनी अडानी विल्मर ने कहा है कि गांगुली को केवल अस्थायी रूप से इस विज्ञापन से हटाया गया है पर आगे विज्ञापन जारी रहेगा. इसके पहले ऐसी खबरें आयीं थीं कि अडानी विल्मर ने अपने फॉर्च्यून राइस ब्रान कुकिंग ऑयल के उन सभी विज्ञापनों को रोक दिया है जिनमें टीम इंडिया के पूर्व कप्तान गांगुली दिखाई देते हैं. गांगुली को दिल का दौरा पड़ने के बाद से ही सोशल मीडिया (Media) पर कंपनी के विज्ञापनों का मजाक उड़ाया जाने लगा. गांगुली को पिछले साल जनवरी में फॉर्च्यून राइस ब्रान ‘हॉर्ट हेल्दी ऑयल’ का ब्रैंड एंबेसेडर बनाया गया था. इसमें वह दिल की देखभाल को बढ़ावा देते नजर आते हैं और इसके लिए राइस ब्रान तेल के इस्तेमाल की सलाह देते हैं.

  टाइगर ने अपने दांतों से पीछे खींच ली पर्यटकों से भरी सफारी गाड़ी

अडानी विल्मर के एक अधिकारी अंगशू मलिक ने कहा, ‘हम गांगुली के साथ काम करते रहेंगे और वह हमारे ब्रैंड एम्बेसडर बने रहेंगे. हमने अपने टीवी कॉमर्शियल में सिर्फ अस्थायी रोक लगायी है और आगे उनके साथ काम करेंगे. यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है जो किसी के साथ हो सकती है.’ अपने सेहतमंद तेल का बचाव करते हुए मलिक ने कहा, ‘राइस ब्रान ऑयल कोई दवा नहीं है, यह केवल कुकिंग ऑयल है. दिल के मामले में कई तरह के कारकों का प्रभाव होता है, जैसे कि खान-पान संबंधी और आनुवंशिक मामले.’ उन्होंने कहा कि राइस ब्रान को दिल के लिए काफी सेहतमंद विकल्प माना जाता है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *