अडाणी ट्रांसमिशन की केपीटीएल संग अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन खरीदने पर बनी सहमति


नई दिल्ली (New Delhi). देश के मशहूर औद्योगिक घराने अडाणी समूह के अडानी ट्रांसमिशन ने बताया कि उसने अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन लिमिटेड के अधिग्रहण के लिये कल्पतरु पावर ट्रांसमिशन लिमिटेड (केपीटीएल) के साथ समझौता किया है. अडाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड ने शेयर बाजारों को भेजी नियामकीय सूचना में कहा है कि इस अधिग्रहण के लिये कुल मूल्य 1,286 करोड़ रुपये लगाया गया है.

  रायपुर के पास छत्तीसगढ़ सरकार बनाएगी माता कौशल्या का भव्य मंदिर

उसने कहा कि कंपनी के इक्विटी शेयरों का अधिग्रहण 10 रुपये प्रति शेयर के अंकित मूल्य पर किया गया है. अडाणी ट्रांसमिशन ने कहा है कि अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन पश्चिम बंगाल (West Bengal) और बिहार (Bihar)मं 650 सर्किट किलोमीटर की ट्रांसमिशन लाइनों का परिचालन करती है. उसने कहा, ‘इस अधिग्रहण के साथ ही अडाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड का कुल नेटवर्क 15,400 सर्किट किलोमीटर तक पहुंच जायेगा. इसमें से 12,200 किलोमीटर से अधिक (इस संपत्ति को मिलाकर) परिचालन में हैं जबकि 3,200 सर्किट किलोमीटर निर्माण के विभिन्न चरणों में है.’

  नई शिक्षा नीति से विदेशी छात्र भारत में पढ़ाई के लिए आकर्षित

अडाणी ट्रांसमिशन के प्रबंध निदेशक और सीईओ अनिल सरदाना ने कहा, ‘अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन लिमिटेड के अधिग्रहण से अडाणी ट्रांसमिशन की देशभर में उपस्थिति बढ़ेगी और साथ ही यह देश में निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी ट्रांसमिशन कंपनी के तौर पर और मजबूत होगी.’ यह अधिग्रहण सभी नियामकीय मंजूरियों और अन्य सहमतियों के पूरा होने पर दो माह में पूरा हो सकता है. ‘इस संपत्ति के अडाणी समूह में आने से अडाणी ट्रांसमिशन 2022 तक 20,000 सर्किट किलोमीटर का लक्ष्य हासिल करने के और करीब पहुंचेगी.’

  ‘हिंदुत्व’ के ‘रग- रग’ में बसे ‘श्रीराम’

Check Also

नीतीश ने सुशांत केस में की CBI जांच की सिफारिश, जेडीयू बोली अब पाताल से भी पकड़ा जाएगा अपराधी

नई दिल्ली (New Delhi). एक्टर सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार (Bihar)सरकार (Government) ने केंद्रीय …