सेमिनार में प्रदेशभर के अधिवक्ताओं ने लिया भाग, पक्षकारों के विधिक प्रवक्ता के रूप में पैरवी करते अधिवक्ता: राज दीपक

उदयपुर (Udaipur). राजस्थान सरकार (Government) के अतिरिक्त महाधिवक्ता राजदीपक रस्तोगी ने कहा है कि वकालत एक पुनीत कार्य है जिसमें अधिवक्ता को पक्षकार के विधिक प्रवक्ता के रूप में न्यायालय में उसकी सशक्त पर भी करनी होती है और उसके लिए उसे बेहद कठिन परिश्रम करना पड़ता है ताकि वह अपने पक्षकार को विजय दिला सके. रस्तोगी ने कहा कि अधिवक्ता पक्षकार का सही कार्य के लिए लीगल प्रवक्ता है, ना कि उसके गलत व अनैतिक कार्यों के लिए उसका विधिक प्रवक्ता है

बार एसोसिएशन उदयपुर (Udaipur) द्वारा( Live Zoom Cloud Webinar) बुधवार (Wednesday) को आयोजित वेब सेमिनार में जयपुर (jaipur) से अतिरिक्त महाधिवक्ता राज दीपक रस्तोगी ने वकालत – पेशेवर नैतिकता और कानूनी मामले की तैयारी.* विषयक सेमिनार को संबोधित करते हुए यह बात कही. उन्होंने कहा कि किसी भी अधिवक्ता को अपने आप को कानून का विशेषज्ञ नहीं मानकर, बल्कि सीखने की प्रवृत्ति रखना चाहिए इससे वह ताउम्र कानून की व्याख्या समझ सकता है और सशक्त पर्दे के माध्यम से पीठासीन अधिकारी को समझा भी सकता है.

  राजस्थान में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 103 IAS के तबादले, राजीव स्वरूप को बनाया मुख्य सचिव, देखिए पूरी सूची

इस दौरान उन्होंने अधिवक्ताओं को किसी भी केस के तैयारी से पूर्व ब्रीफ ऑफ़ ऑफ नोट्स, केस के फैक्ट, इस के संदर्भ में न्यायालय के न्यायिक दृष्टांत आदि का गहनता से अध्ययन करने तथा उसके संदर्भ में अपनी ऑपिनियन लिखकर फाइल में लगा देना की सलाह दी, ताकि पेशी के दिन सरसरी निगाह से ही अधिवक्ता पक्षकार के लिए पैरवी कर सके. रस्तोगी ने पक्षकारों के मामलों को गहनता से सुनने उसके न्यायालय में किए जाने वाले बहस बिंदु एप्रिसिएशन ऑफ लोक कानून में दी जाने वाली सुविधाओं तथा उसके संदर्भ में उच्चतम न्यायालय के न्यायिक दृष्टांतओं में दी गई राहत के साथ न्यायालय में बहस के दौरान पीठासीन अधिकारी के समक्ष अनुशासन से अपनी बात पक्षकार के पक्ष में पूर्व जोर शब्दों में रखने स्पष्ट बोलने तथा पीठासीन अधिकारी के समक्ष डायस पर हाथ ना चलाने तथा गुस्सा नहीं कर ले के संदर्भ में संयम रखने की सलाह दी.

रस्तोगी ने अधिवक्ताओं द्वारा गले में पहने जाने वाले बैंड की व्याख्या करते हुए कहा कि यह अधिवक्ता एवं पक्षकारों के मध्य विश्वास का वह दिया हुआ धागा है जिसमें रस्सी के साथ संलग्न दो पट्टियां पक्षकार व वकील के रूप में प्रदर्शित होती है जो न्यायालय में उन्हें अपनी जिम्मेदारी का एहसास कराती है और सशक्त पैरवी करने के लिए प्रेरित करती हैं. इस दौरान उन्होंने उच्चतम न्यायालय उच्च न्यायालय के अधिवक्ताओं के फीस निर्धारण नए अधिवक्ताओं को प्रोत्साहित करने तथा लोक डाउन की अवधि में जूनियर अधिवक्ताओं को साथ लेकर उनको आर्थिक सहयोग करने के टिप्स दिए.

  तीन होटलों में देह व्यापार का भंडाफोड़, विदेशी सहित पूर्वोत्तर राज्यों से बुलाई गई थी 7 युवतियां

इस दौरान अधिवक्ता उदयपुर (Udaipur) के  अधिवक्ता गोपाल सिंह चौहान महेंद्र नागदा कमलेश दवे दुर्गा सिंह शक्तावत तुषार मोड एवं युवा अधिवक्ता ओजस जयपुर (jaipur) के किन्नूश जैन निधि खंडेलवाल ऑनलाइन सवाल किए जिसका रस्तोगी ने विधिवत रूप से जवाब दिया.

वेब सेमिनार में जोधपुर से बार कौंसिल ऑफ राजस्थान के सदस्य वरिष्ठ अधिवक्ता सचिन आचार्य रमनदीप सिंह राजस्थान सरकार (Government) के फॉरेंसिक जांच लैब के सेवानिवृत्त निदेशक शैलेंद्र झा उदयपुर (Udaipur) से उपाध्यक्ष नीलांक्ष द्विवेदी  महासचिव चक्रवर्ती सिंह राव सचिव राजेश शर्मा पुस्तकालय सचिव पृथ्वीराज तेली सह व्रत सदस्य  महेंद्र सिंह चारण  अधिवक्ता प्रवीण खंडेलवाल हरीश पालीवाल  प्रेम सिंह पवार महादेव सिंह चौहान सीमा कपूर प्रियांशी चतुर्वेदी सुधा मेहता कंचन वैष्णव पुष्प लता भाटी हितेश वैष्णव बीएल पटेल सहित सैकड़ों अधिवक्ताओं ने भाग लिया. प्रारंभ में अध्यक्ष मनीष शर्मा ने ऑनलाइन अतिथि का स्वागत कर प्रतिभागियों को वेब सेमिनार के आयोजन पर प्रकाश डाला. वेब सेमिनार का संचालन एडवोकेट श्रीमती अदिति मोड़ ने किया. वेब सेमिनार का यूट्यूब के माध्यम से सीधा प्रसारण भी किया गया जिसमें राजस्थान के विभिन्न जिलों से जुड़े अधिवक्ताओं ने भी भाग लिया.

  जानिए उदयपुर में आज कलक्टर ने कहां कहां लगाया कर्फ्यू

वेब सेमिनार में भाग लेने वालों को दिया जाएगा प्रमाण पत्र

अध्यक्ष मनीष शर्मा ने बताया कि अधिवक्ताओं के लिए आयोजित की जा रही ऑनलाइन वेब सेमीनार में उदयपुर (Udaipur) जिले से संदर्भित अधिवक्ताओं के नियमित भाग लेने पर उन्हें ऑनलाइन पाठ्यक्रम का प्रतिभागी प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा. वेब सेमिनार में भाग लेने वालों की सूची वेब पेज के प्रतिभागी कलम से ली जाएगी.

Check Also

शहर में कई जगह पशुओं के लिए पानी की टंकियाँ लगायी

मन ग्लोबल वेलफेयर फाउंडेशन, उदयपुर (Udaipur) शाखा ने आज शहर के विभिन्न क्षेत्रों में पशुओं …