Thursday , 28 January 2021

करीब नौ महीने बाद स्कूलों में लौटी रौनक, 10वीं व 12वीं की क्लास शुरू

रांची (Ranchi) . झारखंड में वैश्विक महामारी (Epidemic) कोरोना संक्रमण के फैलाव के कारण मार्च महीने से बंद स्कूल सोमवार (Monday) से खुल गये. राज्य सरकार (State government) द्वारा कोविड-19 (Covid-19) को लेकर जारी आवश्यक गाइडलाइन के अनुसार अभी सिर्फ 10वीं और 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए ऑफलाइन क्लास करने की अनुमति दी गयी. करीब नौ महीने के बाद आज सुबह से ही इन स्कूलों में रौनक रही. सोशल डिस्टेसिंग, सैनिटाइजर (Sanitizer) और मॉस्क समेत अन्य आवश्यक दिशा-निर्देश को लेकर स्कूल प्रबंधन की ओर से व्यापक इंतजाम किये गये थे, वहीं छात्र-छात्राएं भी अपने अभिभावकों से स्कूल आने को लेकर आवश्यक सहमति पत्र के साथ अपने स्कूल पहुंचे थे.

राजधानी रांची (Ranchi) में 10वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ाई शुरू कराने को लेकर विभिन्न सरकारी और निजी स्कूलों सुबह ही एक लंबे समय के बाद विशेष चहल-पहल देखी गयी. राजधानी रांची (Ranchi) के प्रतिष्ठित डीपीएस के अलावा कई स्कूलों की ओर से सामाजिक दूरी को बनाये रखने के लिए विद्यार्थियों के लिए अलग-अलग सेक्शन की व्यवस्था की गयी थी. वहीं कई स्कूलों द्वारा 10वीं और 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए अलग-अलग पाली में क्लास लेने की व्यवस्था की गयी है.
स्कूल पहुंचते ही विद्यार्थियों के हाथों को सबसे पहले सैनिटाइज कराया गया, उसके बाद उनके अभिभावकों से स्कूल आने को लेकर सहमति पत्र लेकर संबंधित सेक्शन में भेज दिया गया. इस दौरान सभी छात्र-छात्राएं मॉस्क लगाकर ही स्कूल पहुंचे थे. वहीं एहतियात के तौर पर सिर्फ बच्चों को ही स्कूल के अंदर प्रवेश की अनुमति दी गयी. बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक पूर्ण पाबंदी के आदेश को लागू रखा गया है. सोशल डिस्टेसिंग बनाये रखने के लिए कई निजी स्कूलों द्वारा सीसीटीवी कैमरे की भी व्यवस्था की गयी है.

  वर्ष 2021 नियुक्ति का वर्ष होगा, निजी क्षेत्रों में भी 75 प्रतिशत पद स्थानीय के लिए आरक्षित होगा-मुख्यमंत्री

इधर, राज्य के सरकारी और निजी स्कूलों में दसवीं और बारहवीं की कक्षाएं सोमवार (Monday) से शुरू हो जाएंगी,लेकिन आवासीय विद्यालयों के विद्यार्थियों को अभी इंतजार करना होगा. आवासीय विद्यालयों के करीब 34,000 छात्र (student) छात्राएं मैट्रिक और इंटर की कक्षाएं जनवरी के पहले सप्ताह से कर सकेंगे. नेतरहाट स्कूल को भी इसी के साथ जनवरी में खोल दिया जाएगा. कुल 351 आवासीय विद्यालय खोले जाएंगे.

  राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने किया रांची के मोरहाबादी मैदान में झंडोत्तोलन

स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग और अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, पिछड़ा व अल्पसंख्यक कल्याण विभाग इसका प्रस्ताव आपदा प्रबंधन विभाग को सोमवार (Monday) को भेजने की तैयारी कर रहा है. प्रस्ताव में विभाग की ओर से 10वीं और 12वीं के छात्र (student) छात्राओं को आवासीय स्कूल में आकर रहने और पढ़ने की अनुमति मांगी जा रही हैं. आवासीय विद्यालय को खोलने की अनुमति मिलने के बाद कम से कम एक सप्ताह का समय छात्र- छात्राओं के आने और स्कूल प्रबंधन को राशन की व्यवस्था करने के लिए दिया जा सकेगा.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *