महाराष्‍ट्र के बाद अब राजस्‍थान में भी होगा प्रार्थना सभा में संविधान प्रस्तावना का वाचन

गुणवत्ता शिक्षा में राजस्थान बने देश का पहला राज्य -श्री गोविन्द सिंह डोटासरा, शिक्षा मंत्री

जयपुर . शिक्षा मंत्री श्री गोविंद सिंह डोटासरा ने घोषणा की है कि 26 जनवरी से प्रदेश के विद्यालयों में प्रार्थना सभा में भारतीय संविधान की प्रस्तावना का भी वाचन करवाया जाएगा. उन्होंने कहा कि ‘हम भारत के लोग’ से प्रारम्भ संविधान की प्रस्तावना भारत के सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथ निरपेक्ष, लोकतन्त्रात्मक गणराज्य के साथ ही न्याय, सभी धर्मों के सम्मान, एकता और अखंडता, व्यक्ति की गरिमा, परस्पर सद्भाव के भावों का प्रसार करती है.

श्री डोटासरा ने कहा कि संविधान की प्रस्तावना को विद्यालयों में प्रार्थना सभा के समय प्रतिदिन वाचन करने को लागू करने का उद्देश्य यही है कि देश की नई पीढ़ी, हमारे विद्यार्थियों में राष्ट्रीय एकता, अखण्डता, सभी धर्मों के आदर की संविधान की भावना सदा कायम रहे. उन्होंने कहा कि राष्ट्र में जिस तरह का माहौल बनाया जा रहा है, उसमें हमारे संविधान निर्माण की प्रस्तावना और भावों के प्रसार से ही हम देश में परस्पर सद्भाव, एकता, अखण्डता को कायम रख सकते हैं.

  कृषिमंडी 2 लाख की लूटकांड के साथ ही कानोड़ 4.60 लूटकांड का भी पर्दाफाश

श्री डोटासरा ने शुक्रवार को राजस्थान एजुकेशन इनिसिएटिव द्वारा होटल क्लार्क्स आमेर में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में सहयोग करने वाली स्वेच्छिक संस्थाओं की विमर्श बैठक में यह घोषणा की. उन्होंने कहा कि राजस्थान में शिक्षा क्षेत्र में नवाचार अपनाते हुए विकास की महत्ती पहल की गई गई है. हम चाहते हैं गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा में दूसरे स्थान पर रहने वाला हमारा प्रदेश सभी के सहयोग से एक नंबर पर आए. उन्होंने इसके लिए स्वेच्छिक संस्थाओं द्वारा विद्यार्थी हित में प्रतिबद्ध होकर सहयोग का आह्वान किया. श्री डोटासरा ने ड्रॉपआउट बालक बालिकाओं को मुख्य धारा से जोड़ने हेतु लर्निंग सेंटरों के प्रभावी संचालन, आयु अनुरूप कक्षा में पढ़ाई की बेहतरीन व्यवस्था, सामुदायिक भागीदारी से जीवन कौशल शिक्षा के लिए प्रभावी प्रयास किये जाने पर भी जोर दिया. शिक्षा मंत्री ने शिक्षा में सहयोग करने वाली विभिन्न संस्थाओं के कार्यों की जानकारी लेते हुए राज्य के जिलों में आदर्श एवं मॉडल स्कूलों के प्रधानाचार्यों के प्रशिक्षण, शिक्षा में तकनीकी सहयोग आदि के भी निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता में रखते हुए अधिकारी विभागीय योजनाओं की नियमित मोनिटरिंग भी करें. उन्होंने विद्यार्थियों को अध्ययन के साथ साथ क्षमता संवर्धन कार्यों से भी जोड़ने, डाइट फैकल्टी के प्रभावी प्रशिक्षण, विद्यालयों में पुस्तक बैंक, रीडिंग हैबिट विकसित किये जाने के लिए भी विशेष रूप से कार्य करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि जीवन कौशल शिक्षा वर्तमान समय की सबसे बड़ी जरूरत है, इसमें शेक्षिक संस्थाएं सहयोग करें.

  वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की ओर से सेहरी-इफ्तारी पर विवाद, बजरंग दल की सीईओ को हटाने की मांग

विमर्श बैठक में राज्य में शिक्षा क्षेत्र में सहयोग करने वाली 15 संस्थाओं ने अपने प्रस्तुतिकरण दिए. बैठक में भारती फाउंडेशन, सेव द चिल्ड्रन, पिरामल फाउंडेशन, अज़ीम प्रेमजी, लर्निंग एंड लिंक, रामकृष्ण मिशन, लेंड एंड हेंड, बोध, रूम टू रीड आदि ने विभिन्न स्तरों पर शिक्षा में गुणवत्ता के लिए किए जा रहे कार्यों और भविष्य के कार्यों के बारे में विस्तार से बताया. बैठक में राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद की अतिरिक्त आयुक्त रश्मि शर्मा, अतिरिक्त आयुक्त एम.एल. बगड़िया ने विभिन्न शिक्षा योजनाओं के बारे में जानकारी दी.

  जून में संसदीय समितियों की बैठक शुरू होंगी, राज्यसभा के लंबित मतदान भी जून माह में होने की संभावना

जीवन कौशल शिक्षा पुस्तकों का लोकार्पण

शिक्षा मंत्री श्री डोटासरा ने कक्षावार विद्यार्थीयों और शिक्षकों के लिए तैयार जीवन कौशल शिक्षा मार्गदर्शिका पुस्तकों का इस दौरान लोकार्पण भी किया. उन्होंने कहा कि पढ़ाई के साथ साथ जीवन कौशल की शिक्षा जरूरी है. इसी के तहत बच्चों के स्वावलंबन के लिए पाठ तैयार किये गए हैं. उन्होंने ‘रूम टू रीड’ संस्था द्वारा इस संबंध में किये कार्य की सराहना भी की.

बालिका दिवस की शुभकामनाएं

शिक्षा मंत्री ने बालिका दिवस की शुभकामनाएँ दी है. उन्होंने कहा कि बालिका शिक्षा के लिए सभी स्तरों पर प्रयास किये जाने पर जोर देते हुए कहा कि एक बालिका यदि पढ़ लेती है तो पूरा परिवार पढ़ लेता है. उन्होंने कहा कि वही समाज विकास कर सकता है, जहां बालिकाओं की शिक्षा, उनके समुचित पोषण पर ध्यान दिया जाता है.

Check Also

कलक्टर श्रीमती आनंदी ने आज शहर के इन क्षेत्रों में लगाई निषेधाज्ञा

उदयपुर (Udaipur). उदयपुर (Udaipur) शहर के विभिन्न क्षेत्रों में नोवेल कोरोना (Corona virus) से संक्रमित …