Wednesday , 14 April 2021

धोनी के जाने के बाद कुलदीप-चहल के प्रदर्शन में आई गिरावट, सहवाग बोले अब खुद संभलो

नई दिल्ली (New Delhi) . टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भले ही क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं और मैदान से दूर हैं, लेकिन उनके प्रशंसक अकसर उन्हें याद करते रहते हैं. सोशल मीडिया (Media) पर कुलदीप यादव ट्रेंड कर रहे हैं. कुछ लोगों का मानना है कि कुलदीप और युजवेंद्र चहल धोनी के विकेट के पीछे रहते बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है.

कुछ लोगों ने सोशल मीडिया (Media) पर लिखा धोनी के विकेट के पीछे नहीं रहने के बाद से दोनों के प्रदर्शन में गिरावट आई है. भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे वनडे में मिली हार के बाद से यह सवाल और ज्यादा पूछा जा रहा है. पुणे (Pune) के एमसीए स्टेडियम में शुक्रवार (Friday) को इंग्लैंड ने भारत के खिलाफ सीरीज के दूसरे वनडे में 6 विकेट से जीत दर्ज की. इस जीत के साथ मेहमान टीम ने तीन मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबरी भी कर ली.

  धोनी बन गए प्रोड्यूसर, बना रहे एनिमेटेड जासूस आधारित सीरीज कैप्टन 7

इस मुकाबले में टीम इंडिया ने केएल राहुल (108) के शतक, ऋषभ पंत (77) और कप्तान विराट कोहली (66) के अर्धशतकों की मदद से 6 विकेट पर 336 रन का मजबूत स्कोर बनाया, लेकिन इंग्लैंड ने 4 विकेट खोकर 43.3 ओवर में ही लक्ष्य हासिल कर लिया. मैन ऑफ द मैच रहे जॉनी बेयरस्टो ने 124 रन की नाबाद पारी खेली. उनके अलावा ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने 99 रन बनाए. पुणे (Pune) में दूसरे वनडे मैच में स्पिनरों पर इंग्लिश बल्लेबाजों ने जमकर रन बटोरे. चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव और क्रुणाल तो बहुत महंगे साबित हुए. कुलदीप ने 84 रन लुटाए और उन्हें कोई सफलता नहीं मिली. वहीं, क्रुणाल ने भी 6 ओवर में 72 रन दे दिए. इसके बाद बहस सी छिड़ गई कि कुलदीप और चहल का प्रदर्शन धोनी के टीम में रहने तक ही बेहतर था. अगर आंकड़ों पर नजर डालें तो धोनी का प्रभाव नजर तो आता है.
धोनी के साथ कुलदीप ने 47 और चहल ने 46 मैच खेले. इस दौरान कुलदीप ने 91 विकेट लिए, जबकि चहल को 81 विकेट मिले. धोनी के बिना कुलदीप ने 16 मैच खेले और केवल 14 विकेट मिले.

  क्रिस गेल अब संगीत के मैदान में, नया गाना 'जमैका टू इंडिया' रिलीज

इस दौरान उनका इकॉनमी रेट 6.22 का रहा. वहीं, चहल ने धोनी के बिना कुल 8 मैच खेले और 11 विकेट झटके. इस दौरान इस लेग स्पिनर का इकॉनमी रेट 6.80 का रहा. पूर्व धुरंधर ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने कहा यह सही बात है कि धोनी के रहने से फायदा होता था, वह बल्लेबाज को पढ़ते थे और बताते थे कि वह क्या करने वाला है और क्या कर रहा है. वह गेंदबाजों को भी उसी हिसाब से गाइड करते थे. इन दोनों गेंदबाजों (कुलदीप और चहल) के शुरुआती करियर में धोनी ने काफी मदद की है, लेकिन अब खुद ही अपनी मदद करनी होगी. उन्हें अब बल्लेबाज को खुद ही पढ़ना होगा और समझना होगा कि किस तरह की गेंदबाजी से उसे परेशान किया जा सकता है.

  कोलकाता नाइट राइडर्स ने बनाए 187 रन

‘कुल-चा’ नाम से मशहूर कुलदीप और चहल की जोड़ी ने अब तक अच्छा प्रदर्शन किया है. कुलदीप ने अपने करियर में अभी तक 7 टेस्ट, 63 वनडे और 21 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं. उनके नाम टेस्ट में 26, वनडे में 105 और टी20 इंटरनैशनल में कुल 39 विकेट हैं. वहीं, युजवेंद्र चहल की बात करें तो उन्हें अभी तक टेस्ट क्रिकेट में मौका नहीं मिला है. उन्होंने अब तक 54 वनडे में 92 और 48 टी20 इंटरनेशनल मैचों में कुल 62 विकेट लिए हैं.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *