वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने भरी तेजस से उड़ान


चेन्नई. कुछ दिनों से चीन के साथ जारी तनातनी के बीच भारतीय वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने बुधवार (Wednesday) सुबह तेजस से उड़ान भरी. तेजस का दूसरा स्क्वॉड्रन आज वायुसेना में शामिल हुआ है.

एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने तमिलनाडु स्थित वायुसेना के स्टेशन सुलूर से सिंगल सीटर तेजस विमान उड़ाया. इससे पहले वायुसेना के एक प्रवक्ता ने कहा था कि स्क्वॉड्रन (बेड़े) में हल्के लड़ाकू विमान तेजस को शामिल किया जाएगा और तेजस विमानों वाली भारतीय वायुसेना की यह दूसरी स्क्वॉड्रन होगी. तेजस चौथी पीढ़ी का लड़ाकू विमान है, जिसे एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी और हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) द्वारा विकसित किया गया है. भारतीय वायुसेना ने पहले ही 40 तेजस विमानों का ऑर्डर दिया है और जल्दी ही एचएएल को 83 और विमानों का आर्डर दिया जा सकता है, जिसमें लगभग 38,000 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

  NLC India accident : बॉयलर में विस्फोट से मरने वालों की संख्या 13 हुई, एक गंभीर

तेजस से लैस दूसरी और वायुसेना की 18वीं स्कॉड्रन की स्थापना 1965 में की गई थी और इसका आदर्श वाक्य है ‘तीव्र और निर्भय’. पाकिस्तान के साथ 1971 के युद्ध में सक्रिय भूमिका निभाने वाली इस स्क्वाड्रन को 15 अप्रैल 2016 को सेवामुक्त कर दिया गया था. इससे पहले इसमें मिग-27 विमान शामिल थे. स्क्वॉड्रन को 01 अप्रैल 2020 को पुनः शुरू किया गया था. इस स्क्वॉड्रन को नवंबर 2015 में राष्ट्रपति द्वारा ध्वज प्रदान किया गया था.

  02809/02810 मुंबई-हावड़ा-मुंबई स्पेशल 17 जुलाई से सप्ताह में एक दिन

Check Also

राजस्थान सरकार गिराने की साजिश, भाजपाई गिरफ्तार

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लगाया आरोप : भाजपा कर रही सरकार अस्थिर करने की कोशिश …