अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा – मेवाड़ का स्नेह मिलन एवं सामाजिक चिंतन कार्यक्रम हुआ

 

उदयपुर (Udaipur). अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा – मेवाड़ के प्रवक्ता रणवीर सिंह जोलावास ने बताया कि कार्यकरणी सदस्यों व पदाधिकारियों का स्नेह मिलन एवं सामाजिक चिंतन “राष्ट्रीय तीर्थ – महाराणा प्रताप गौरव केन्द्र” पर सम्पन्न हुआ. कार्यक्रम में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा – मेवाड़ जिला कार्यकारिणी, महिला कार्यकारिणी, शहर कार्यकारिणी व देहात कार्यकारिणी सदस्य उपस्थित थे. पदाधिकारियों ने संगठनात्मक चर्चा के साथ समाज के उत्थान व मजबूती प्रदान करने के लिए विभिन्न विषयों पर विचार – विमर्श किया.

कार्यक्रम का शुभारंभ महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दिप प्रज्वलित कर किया तत्पश्चात समाजजनों ने “राष्ट्रीय तीर्थ – महाराणा प्रताप गौरव केन्द्र” का भ्रमण किया एवं मेवाड़ से जुड़े अनकहे पहलुओं की तथ्य – साक्ष्य के आधार पर जानकारी नवयुवकों को प्रदान करी. क्षत्रिय महासभा – मेवाड़ ने मेवाड़ के इतिहास, महापुरुष, देवताओं की जानकारी उपलब्ध कराने, अष्टधातु से निर्मित 57 फिट की महाराणा प्रताप की भव्य प्रतिमा तैयार करने के राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) व्यूहरचनाकार वरिष्ठ प्रचारक श्रीवर्धन जी भाईसाहब, प्रबंध निदेशक अनुराग जी सक्सेना का क्षत्रिय महासभा की और से तेज सिंह जी बांसी, प्रदीप कुमार सिंह सिंगोली, चंद्रगुप्त सिंह चौहान, शक्ति सिंह कारोही, संगीता कोठारिया, ज्योत्सना झाला ने स्मृति चिन्ह भेंट कर अपना आभार प्रदशित किया.

  आरटीपीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट नहीं होगी तो उदयपुर में होटल किराए नहीं मिलेगा

“राष्ट्रीय तीर्थ – महाराणा प्रताप गौरव केन्द्र” के भ्रमण पश्चात क्षत्रिय महासभा सदस्यों ने सामाजिक विषयों पर चिंतन किया. चिन्तन सत्र में मांडलगढ़ पूर्व विधायक, विद्याप्रचारिणी सभा कार्यवाहक अध्यक्ष तथा भूपाल नोबल्स विश्विद्यालय अध्यक्ष प्रदीप कुमार सिंह सिंगोली ने वर्तमान परिदृश्य में क्षत्रिय समाज में सामुहिक विवाह की आवश्यकता पर विचार प्रस्तुत किये. निर्भया नशा मुक्ति संगठन के संस्थापक निर्भय सिंह राणावत ने समाज मे पूर्ण नशा मुक्ति पर बल दिया. महासभा संरक्षक चंद्रगुप्त सिंह चौहान ने समाज में विधवा विवाह की स्वीकृति के लिए विचार प्रस्तुत किए तथा नवीन प्रतिभाओं के निर्माण पर जोर दिया. संभाग प्रभारी शक्ति सिंह करोही ने समाज की प्रतिभाओं के सम्मान के कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए सुझाव प्रस्तुत किए. समाज के बालक – बालिकाओं के सर्वांगीण विकास व उनमें उचित संस्कार देने के लिए मार्गदर्शक मंडल वरिष्ठ सदस्य दिलीप सिंह दुदोड़ ने महत्त्वपूर्ण सुझाव दिये.

  इस बार महाशिवरात्रि पर बंद रहेगा श्री एकलिंगजी मंदिर

कार्यक्रम में दशरथ सिंह झाला, सत्यवीर सिंह तंवर, महावीर सिंह चुंडावत, अजित सिंह, रिपुदमन सिंह राठौड़,शैलेन्द्र सिंह राणावत, कुलदीप सिंह, मंजू बनेठी, डिम्पल कवर राठौड़, प्रकाश कवर जी सियाना, डॉ. प्रफुलता शक्तावत समेत कई महिलाएं मौजूद रही. स्वागत भाषण संरक्षक चंद्रगुप्त सिंह चौहान ने तथा धन्यवाद शक्ति सिंह करोही ने दिया. संम्पूर्ण कार्यक्रम का संचालन महासभा के उपाध्यक्ष व प्रवक्ता रणवीर सिंह जोलवास ने किया.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *