टोमैटो कैचअप की कमी से जूझ रहा अमेरिका, कोरोना ने किया बेहाल

वॉशिंगटन . कोरोना महामारी (Epidemic) हर मोर्चे से आम आदमी को परेशान किया है. पहली बार लॉकडाउन (Lockdown) लगने पर लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ा, इसी बीच अमेरिकियों को एक और समस्या का सामना करना पड़ सकता है. ऐसा कहा जा रहा है कि जल्द ही अमेरिकियों के पास फ्राईज या बर्गर में इस्तेमाल होने वाले टोमैटो केचप की कमी पड़ सकती है.

  ओमान कारोबार से बाहर हुई जिंदल स्टील

महामारी (Epidemic) की वजह से लगभग सभी रेस्त्रां में टेक अवे की सुविधा को ज्यादा प्राथमिकता दी जा रही है, ऐसे में मैन्यूफैक्चर्र्स को टोमैटो केचप के सिंगल-यूज प्लास्टिक पैकेट की मांग को पूरा करने में परेशानी को सामना करना पड़ रहा है. टोमैटो केचप बनाने वाली बहुचर्चित कंपनी हेंज के प्रवक्ता ने कहा कि महामारी (Epidemic) के दौरान मांग में तेजी देखी गई है. नई स्थिति के मद्देनजर कंपनी ने प्रोडक्शन प्रक्रिया में काफी बदलाव किए हैं.

  फलस्तीनी आतंकवादियों ने इजराइल के दक्षिण हिस्से में रॉकेट दागा

कंपनी ने कहा कि आपूर्ति से ज्यादा केचप की मांग है. इस मांग के चलते कंपनी ने अपने फैक्टरी में कई और प्रोडक्शन लाइंस की शुरुआत की है, जिससे केचप की मैन्यूफैक्चरिंग में 25 फीसदी का इजाफा हो गया है. कंपनी ने बताया कि एक साल में 12 बिलियन टोमैटो केचप के पैकेट बनाए जा रहे हैं. वहीं साल 2020 के बाद से केचप पैकेट की कीमत में भी 13 फीसदी की वृद्धि देखी गई है. एक रेस्त्रां के मालिक का कहना है कि बिना केचप के फ्राईज कैसे दिया जा सकता है. कंपनी ने अपने ग्राहकों से इसके लिए माफी भी मांगी है.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *