वाहन कंपनियों का अप्रैल-जून तिमाही परिणाम रह सकता है ‘निराशाजनक’


मुंबई (Mumbai). कोवड-19 संकट और लॉकडाउन (Lockdown) के चलते अप्रैल-जून तिमाही में घरेलू वाहन कंपनियों की बिक्री में भारी गिरावट रही. इसकारण उनके 2020-21 की पहली तिमाही के कारोबार परिणाम निराशाजनक रह सकते हैं. वित्तीय सेवा के सोमवार (Monday) को जारी एक शोधपत्र में यह संभावना जाहिर की गई है.

रिपोर्ट के अनुसार आने वाले दिनों में मारुति सुजुकी, टीवीएस और बजाज ऑटो जैसी कई वाहन कंपनियां अपने जून तिमाही परिणाम जारी करने जा रही हैं. एक शोधपत्र में कहा,कोविड-19 (Covid-19) संकट के बीच वाहनों की बिक्री में भारी गिरावट के चलते 2020-21 की पहली तिमाही घरेलू वाहन कंपनियों के लिए सबसे बुरी तिमाहियों में से एक रहने की आशंका है.सालाना आधार पर यात्री वाहन और दुपहिया वाहनों की बिक्री में इस दौरान 74 से 78 प्रतिशत गिरावट आई है. जबकि ट्रकों की बिक्री 93 प्रतिशत गिरी है.

  शुरुआती बढ़त बरकरार नहीं रख पाया रुपया

रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रैक्टरों की बिक्री में गिरावट अन्य की अपेक्षा थोड़ी संभली रही. इनकी बिक्री 18 से 20 प्रतिशत गिरने की ही संभावना है. जबकि दुपहिया वाहनों का निर्यात 62 प्रतिशत तक गिरा है. कंपनियों की अप्रैल-जून तिमाही की बिक्री में गिरावट के आधार पर वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में वाहनों के मूल कलपुर्जे बनाने वाली कंपनियों की आय में सालाना आधार पर 71 प्रतिशत तक गिरावट आने का अनुमान लगाया है. यह रिपोर्ट विभिन्न श्रेणियों के वाहन बनाने वाली नौ कंपनियों के आंकड़ों का विश्लेषण कर बनी है. इसमें अशोक लीलैंड, बजाज ऑटो, हीरो मोटोकॉर्प, मारूति सुजुकी, आयशर मोटर्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, टीवीएस मोटर, मदरसन सूमी और भारत फोर्ज शामिल हैं.

  चार महीने में गाड़ियों की बिक्री में चार गुना का इजाफा

Check Also

डीजल के दाम घटे

मुंबई (Mumbai). सरकारी तेल कंपनियों ने गुरुवार (Thursday) को फिर से डीजल के दाम घटा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *