अटल नवप्रवर्तन मिशन ने सार्वजनिक प्रणालियों में नवाचारों के लिए सीआईपीएस के साथ सहयोग की घोषणा की

नई दिल्ली (New Delhi) . अटल नवप्रवर्तन मिशन (एआईएम), नीति आयोग, और सार्वजनिक प्रणालियों में नवाचारों का केंद्र (सीआईपीएस) ने आज सार्वजनिक सेवाओं में सुधार के लिए अन्य चीजों के साथ, सार्वजनिक प्रणालियों में नवाचारों के एक डेटाबेस का विकास करके भारत में नवाचार और उद्यमिता इकोसिस्टम को सुदृढ़ करने के लिए सहयोग की घोषणा की.एआईएम और सीआईपीएस के बीच एक आशय के घोषणा पत्र (एसओआई) पर हस्ताक्षर किए गए.

इस आशय के घोषणा पत्र का उद्देश्य विशेष रूप से सार्वजनिक प्रणालियों के क्षेत्र में एआईएम के ज्ञान और अनुभव के साथ-साथ सीआईपीएस की पहुंच का लाभ उठाकर संयुक्त रूप से नवाचार और उद्यमिता को बढ़ावा देना है. एआईएम और सीआईपीएस के बीच सहयोग, स्टार्टअप को स्थानीय प्रशासन के साथ तालमेल करके जमीनी स्तर तक अपने नवाचारों का उपयोग करने और बढ़ावा देने में मदद करेगा.

नागरिकों को सेवाएं प्रदान करने में स्थानीय प्रशासन द्वारा सामना की जाने वाली चुनौतियों का सीआईपीएस परामर्शदाताओं के समर्थन के साथ एक कार्य योजना बनाकर स्टार्ट-अप के माध्यम से समाधान किया जा सकता है. एसओआई के अनुसार, एआईएम और सीआईपीएस संयुक्त रूप से जिला और स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों को शामिल करेंगे, जो अभिनव उत्पादों और समाधानों के बारे में जागरूकता पैदा करेंगे और प्रबंधन की मानक प्रक्रियाओं और नीतियों को समझने में मदद करेंगे ताकि प्रासंगिक नवीन समाधानों प्रबंधन और कार्यान्वयन को तेज किया जा सके.

एआईएम की ई-प्रदर्शनियों की श्रृंखला के आयोजन और मेजबानी ने अपने नवाचारों को प्रदर्शित करने के लिए अभिनव और प्रासंगिक स्टार्ट-अप का समर्थन किया, जो सार्वजनिक प्रशासन और सेवा वितरण तंत्र को बदलने की दिशा में अगला कदम होगा. पायलटों, उत्पाद सुधार और बाजार अनुसंधान को सक्षम करने के लिए स्टार्टअप और अधिकारियों के बीच बातचीत की सुविधा भी होगी.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *