ऑस्ट्रेलियन ओपन: फेडरर क़ड़े मुकाबले में जीते, किशोर खिलाड़ी कोको गॉ ने ओसाका को किया बाहर

मेलबर्न. प्रतिष्ठापूर्ण ऑस्ट्रेलियन ओपन में अमेरिका की अनुभवी खिलाड़ी सेरेना विलियम्स यहां चीन की वांग कियांग से हार कर स्पर्धा से बाहर हो गईं जबकि 15 साल की किशोर खिलाड़ी कोको गॉ ने विगत चैम्पियन नाओमी ओसाका का सफर खत्म कर बड़ा परिवर्तन कर दिया. पुरुष एकल में दिग्गज रोजर फेडरर संघर्षपूर्ण जीत के साथ अगले दौर में पहुंचे जबकि गत विजेता नोवाक जोकोविच को ज्यादा पसीना नहीं बहाना पड़ा. सेरेना को अपने 24वें ग्रैंडस्लैम खिताब के लिए अभी लंबा इंतजार करना होगा जिन्हें तीसरे दौर में 27वीं वरीयता प्राप्त कियांग ने 6-4, 6-7, 7-5 से मात दी. सेरेना सात बार यहां खिताब जीत चुकी है लेकिन 2006 में तीसरे दौर में बाहर होने के बाद पहली बार इतनी जल्दी उनकी रवानगी हुई है. पहली बार ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेल रही गैरवरीय कोको ने जापान की तीसरी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी ओसाका को तीसरे दौर के मुकाबले में 6-3, 6-4 से हराया. इस जीत के साथ ही कोको ने यूएस ओपन में इस खिलाड़ी से मिली हार का बदला भी ले लिया.

  महिला टी20 विश्व कप : शेफाली और पूनम के शानदार प्रदर्शन से भारत ने बांग्लादेश को हराया

सेरेना जहां 38 साल की हो गई हैं वही कोको उनसे 23 साल छोटी है. दोनों के खेल में टेनिस के भूतकाल और भविष्य की झलक दिखी. दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी कैरोलिन वोज्नियाकी ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के तीसरे दौर में मिली हार के साथ नम आंखों के साथ टेनिस को अलविदा कहा. वोज्नियाकी ने दिसंबर में ही कह दिया था कि यह उनका आखिरी टूर्नामेंट होगा. उन्हें ट्यूनीशिया की ओंस जाबुर ने 7-5, 3-6, 7-5 से हराया. इसके साथ ही उनके सुनहरे करियर का अंत हो गया जिसमें उन्होंने 30 डब्ल्यूटीए खिताब जीते. उन्होंने एकमात्र ग्रैंडस्लैम 2018 में ऑस्ट्रेलियन ओपन जीता था. विश्व रैंकिंग में 78वें स्थान पर काबिज जाबुर से मिली हार के बाद वह अपने आंसू नहीं रोक सकी. मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में उनकी आंखें लाल और सूजी हुई थी.

उन्होंने मजाक में कहा, ‘मैने फोरहैंड पर गलती के साथ अपना कैरियर खत्म किया. मैं अपने पूरे कैरियर में इन चीजों पर मेहनत करती रही हूं.’ रेकॉर्ड आठवां खिताब जीतने के लिए उतरे जोकोविच ने शानदार फॉर्म जारी रखते हुए ऑस्ट्रेलियन ओपन के चौथे दौर में जगह बना ली. सर्बिया के इस खिलाड़ी ने जापान के योशिहितो निशिओका को 6-3, 6-2, 6-2 से मात दी. वह 50वीं बार किसी ग्रैंड स्लैम के अंतिम 16 में पहुंचे हैं जबकि रोजर फेडरर यह कमाल 67 बार कर चुके हैं. अब उनका सामना 14वीं वरीयता प्राप्त डिएगो श्वार्त्जमैन से होगा जिन्होंने सर्बिया के डुसान लाजोविच को 6-2, 6-4, 7-6 से हराया. जोकोविच अगर ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतते हैं तो एक ही खिताब आठ या अधिक बार जीतने वाले वह रफेल नडाल (12 बार फ्रेंच ओपन) और फेडरर (आठ बार विम्बलडन) के बाद तीसरे खिलाड़ी होंगे.

  सानिया फेड कप के लिए भारतीय टीम में शामिल

छह बार के चैंपियन फेडरर को हालांकि अगले दौरे में पहुंचने के लिए काफी एड़ी-चोटी का जोर लगाना पड़ा. स्विट्जरलैंड के इस खिलाड़ी को ऑस्ट्रेलियन ओपन के अपने 100वें मैच में जॉन मिलमैन से कड़ी चुनौती मिली. फेडरर ने 4-6, 7-6, 6-4, 4-6, 7-6 से मुकाबला जीतकर अपना 21वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने का ख्वाब जिंदा रखा. ऑस्ट्रेलियन ओपन के पूर्व उपविजेता मारिन सिलिच ने नौवीं वरीयता प्राप्त रॉबर्टो बॉतिस्ता आगुट को पांच सेट तक चले मुकाबले में हराकर अंतिम 16 में जगह पक्की की. क्रोएशिया के 31 साल के इस गैरवरीय खिलाड़ी ने मेलबर्न एरेना में खेले गए मुकाबले में स्पेन के आगुट को चार घंटे से अधिक समय तक चले मैच में 6-7, 6-4, 6-0, 5-7, 6-3 से हराया. क्वॉर्टर फाइनल में जगह पक्की करने के लिए उन्हें कनाडा के 32 वीं वरीयता प्राप्त मिलोस राओनिच की चुनौती से पार पाना होगा. राओनिच ने छठी वरीयता प्राप्त स्टेफानोस सिटिसिपास को 7-5, 6-4, 7-6 से हराकर उलटफेर किया. इटली के फैबियो फोगनिनि ने अर्जेंटीना के गुइडो पेल्ला की चुनौती को 7-6, 6-2, 6-3 से खत्म की.

  खेल विज्ञान अनुसंधान से बेहतर कोच बनायेंगे गोपीचंद

Check Also

इंडियन सुपर लीग फुटबॉल फाइनल 14 मार्च को

मुंबई . इंडियन सुपर लीग फुटबॉल (आईएसएल) का फाइनल गोवा के मडगांव में 14 मार्च …