गावस्कर के टेस्ट में डेब्यू के 50 साल; BCCI ने किया सम्‍मानित

सचिन ने बताया अपना हीरो, लक्ष्मण ने कही बड़ी बात

अहमदाबाद (Ahmedabad) . भारत के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर को टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू के 50 साल पूरे होने पर शनिवार (Saturday) को यहां सम्मानित किया गया. 71 साल के गावस्कर को बीसीसीआई सचिव जय शाह ने भारत और इंग्लैंड के बीच चौथे क्रिकेट टेस्ट के तीसरे दिन लंच ब्रेक में स्मृति के तौर पर एक कैप दिया.

sunil-gavaskar

बीसीसीआई ने ट्वीट किया, टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर के टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण के 50 साल आज पूरे होने का जश्न. शाह ने अपने ट्विटर हैंडल पर भी इसकी तस्वीर डाली.

उन्होंने लिखा, सुनील गावस्कर जी के भारत के लिये टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण के 50 साल पूरे होने का जश्न. सभी भारतीयों के लिए यह बड़ा पल और हम दुनिया के सबसे बड़े नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इसका जश्न मना रहे हैं.

  पन्ना में रात 10 बजे से 22 अप्रैल तक कोरोना कर्फ्यू

गावस्कर ने 1971 से 1987 के बीच भारत के लिए 125 टेस्ट और 108 वनडे खेलकर क्रमश: 10122 और 3092 रन बनाए. वे 1983 की विश्व कप विजेता टीम के भी सदस्य थे.


सचिन तेंदुलकर ने 2005 में सर्वाधिक टेस्ट शतक का उनका रिकॉर्ड तोड़ा. गावस्कर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पदार्पण मैच में पहली पारी में 65 और दूसरी में 67 रन बनाए थे. भारत ने वह मैच और सीरीज दोनों अपने नाम किया था. दुनिया के लाखों करोड़ों क्रिकेटप्रेमियों के नायक सचिन तेंदुलकर के प्रेरणास्रोत भारत के ‘लिटिल मास्टर’ सुनील गावस्कर रहे हैं और वह हमेशा से उनकी तरह बनना चाहते थे. तेंदुलकर ने ट्वीट किया, ‘‘50 साल पहले आज के दिन क्रिकेट की दुनिया में एक तूफान आया था. उन्होंने अपनी पहली ही सीरीज में 774 रन बनाए और हम सभी को एक हीरो मिल गया.’’

  1 लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदेगी प्रदेश सरकार

सचिन ने कहा, भारत ने वेस्टइंडीज में वह सीरीज जीती और फिर इंग्लैंड में जीत दर्ज की. अचानक से भारत में क्रिकेट को नए मायने मिल गए. मैं बचपन से यह जानता था कि मुझे किसके जैसा बनना है. आज भी कुछ नहीं बदला है. वह मेरे हीरो आज भी हैं. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 50वीं सालगिरह मुबारक हो गावस्कर. अजित वाडेकर की कप्तानी में भारत ने वेस्टइंडीज को 1-0 से और फिर इंग्लैंड को हराया था. तेंदुलकर ने कहा,‘‘1971 टीम के सभी सदस्यों को सालगिरह मुबारक. आप सभी ने हमें रास्ता दिखाया और गौरवान्वित किया.’’

  सैमसंग एसी के 2021 रेंज के साथ लीजिए ठंडी और ताज़ी हवा का मज़ा

दूसरी ओर, वीवीएस लक्ष्मण ने गावस्कर से अपनी पहली मुलाकात को याद किया. उन्होंने कहा, जब मैं उनसे पहली बार मिला था तो हैदराबाद में एक मैच में था. यह 1988 की बात है अगर मैं गलत नहीं हूं. मैं पूरी रात नहीं कर सकता था. मुझे अभी भी याद है कि मेरे माता-पिता ने मुझसे पूछा था कि तुम क्यों नहीं सो रहे हो, मैंने उन्हें बताया. मैं अपने रोल मॉडल, एक आइकन, एक लीजेंड से मिला हूं, मैं कैसे सो सकता हूं? पूरी रात मेरे लिए यादगार रही. उन्होंने बहुत प्रेरित किया है और प्रेरित करना जारी रखते हैं, वह अभी भी खेल से जुड़े हुए हैं.


News 2021

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *