भाजपा का चाल चरित्र चेहरा एक्सपोज हो गया-मुख्यमंत्री


जयपुर (jaipur). मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए आज प्रेस में राज्यसभा चुनाव के दौरान प्रतिपक्ष के द्वारा लगाये जा रहे विधायकों के खरीद फरोख्त के आरोपो के पिछली रात हुए खुलासे एसओजी की एफआईआर (First Information Report) से राजस्थान (Rajasthan) की सियासत का पारा 100 डिग्री पहुंच गया. आरोप प्रत्यारोप दोनो पार्टियों की ओर से लगाये जाने लगे है बागीदौरा से महेन्द्रजीत सिंह मालवीय, कुशलगढ़ विधायक रमीला खाडिय़ा के पास राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के दूसरे उम्मीदवार को जीताने के लिए फोन की बात सामने आते ही भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने प्रेस कॉन्फ्रेस करके कांग्रेस पर उलटका आरोप लगाते हुए कहा कि असल बात तो गहलोत सरकार (Government) प्रबंधन में पूरी तरह फेल हो रही है. इसलिए ऐसे आरोप लगाये जा रहे है.

  फोर्ड ने उत्तरी अमेरिका में 700,000 वाहन वापस मंगाए

मुख्य रूप से आज एसओजी ने भरत मलानी, अशोक चौहान को गिरफ्तार कर राज्यसभा चुनाव के दौरान खरीद फरोख्त का सौदा हो रहा था का एक तरह से राजनैतिक गलियारों में खुलासा होने की चर्चाएं जोरो पर हो गई है. इस पर मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने आज प्रतिदिन होने वाली वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में पत्रकारों को खरीद फरोख्त के मुद्दे पर चर्चा की और कहा कि भारतीय जनता पार्टी लोकतंत्र को नष्ट करने की बुरी आदत है खासतौर से जब से प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह ने भाजपा की ऐनकेन प्रकारेण राज्यों में सरकारें बनाने का ठेका लिया है उन्होने कहा कि प्रत्यक्ष को प्रमाण नहीं गुजरात, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh), कर्नाटक (Karnataka), मणिपुर, कई राज्यों में भाजपा की कांग्रेसी सरकार (Government) भाजपा ने अलोकतांत्रिक राजनीति के माध्यम से गिराई उसी तर्ज पर राजस्थान (Rajasthan) में भी सरकार (Government) गिराने का इनका मंसूबा प्रदेश की जनता ने कामयाब नहीं होने दिया.

  दतिया जेल में सजा काट रहे एक कैदी की इलाज के दौरान ग्वालियर में मौत

अपनी सरकार (Government) के बारे में कहा कि कोरोना के प्रबंधन में खामियां बताने वाली प्रदेश स्तरीय भाजपा की टीम को ज्ञात होना चाहिए कि राजस्थान (Rajasthan) कोरोना प्रबंधन मॉडल देश में ही नहीं दुनिया में सराहा गया और स्वंय प्रधानमंत्री ने भी इसकी सराहना की पर सत्ता हथियाने के लिए उतावले बैठे भाजपा शीर्ष नेतृत्व से लेकर प्रदेश स्तरीय नेतृत्वकर्ताओं को मालूम हो कि कांग्रेस ने हमेशा गरीब, असहाय, दलित, शोषित और देशहित संवैधानिक मान मर्यादाओं के तहत सरकारे चलाई है वे यही नहीं रूके यहां तक कहां कि 40 साल पूर्व विपक्ष ने श्रीमती इंन्दिरा गांधी को सरकार (Government) से हटाया था पर क्या हुआ विपक्ष बिखर गया और वापस कांग्रेस को ही जनता ने देश की सत्ता सौपी. गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, अमित शाह पर आरोप लगाया कि लोकतंत्र को घमंड से संचालित करने की कुनीति देश की जनता कभी कामयाब नहीं होने देगी. मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने भाजपा को नसीहत के लहजे में कहा कि सरकार (Government) पूरे पांच साल चलेगी और अगले चुनाव में भी कांग्रेस ही सरकार (Government) बनायेगी क्योंकि प्रदेश की जनता भाजपा के घमंड को चकनाचूर करने के लिए अभी से तैयार बैठी है. मेरी सरकार (Government) का कोरोना प्रबंधन में मूलमंत्र यही है कि जीवन बचाना है और उसके साथ आजीविका को भी निर्बाध चलाना है.

  बिहार की सियासत में किस करवट बैठेगी राजनीति

Check Also

शमी की पत्नी हसीन जहां को सुरक्षा देने के निर्देश

कोलकाता (Kolkata). कलकत्ता हाई कोर्ट ने क्रिकेटर मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां को सुरक्षा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *