मोदी की बुराई पर भड़का ओला ड्राइवर, नौकरी से निकलने पर बायकॉट ओला ट्रेंड


नई दिल्ली. देश की चर्चित कैब सर्विस कंपनी ओला लगातार चर्चा में बनी है. शुक्रवार को ट्विटर पर एकाएक बायकॉट ओला ट्रेंड करने लगा. ट्विटर यूजर ने आरोप लगाया कि कैब ड्राइवर ने उनकी बातचीत पर टिप्पणी की और मोदी सरकार की आलोचना करने पर दुर्व्यवहार किया. टिवटर यूजर की शिकायत के बाद जब ओला ने ड्राइवर पर एक्शन लिया, तब लोगों ने ओला को ही बायकॉट करने की मुहिम छेड़ दी.

  डीलरशिप पर पहुंचने लगी अपडेटेड होंडा डब्ल्यूआर-वी, जल्द हो सकती हैं लांच

दरअसल ट्विटर पर एक यूजर कनव शर्मा ने ट्वीट कर अपने अनुभव को साझाकर बताया कि गुरुवार को ओला में सफर करने के दौरान ड्राइवर ने उनकी बातें सुनी और जवाब दिया कि अर्थव्यवस्था के लिए मोदी सरकार कैसे जिम्मेदार कैसे है, ये पूरी तरह से कांग्रेस की गलती है. कनव शर्मा के अनुसार, ड्राइवर ने उन्हें कहा कि कांग्रेस ने जेएनयू बनाया, जहां पर टुकड़े वाले नारे लगाए जाते हैं. इसके अलावा जवाहर लाल नेहरू का दादा मुस्लिम था. कनव शर्मा के मुताबिक, जब उन्होंने ड्राइवर से तथ्य जांचने को कहा तब जवाब में ड्राइवर ने उन्हें ही एंटी नेशनल गैंग का सदस्य बता दिया. इस पूरी बातचीत की कनव शर्मा ने ओला से शिकायत की तो ओला ने ड्राइवर पर एक्शन लेने की बात कही. और भविष्य में ऐसा दोबारा ना होने का आश्वासन दिया.

  कोविड-19 के कारण शहरों और गांवों में बदलेगा सामान खरीदने का पैटर्न

इस पूरे विवाद के बाद लोगों का गुस्सा ओला पर फूट पड़ा. ट्विटर पर बायकॉट ओला ट्रेंड हुआ और लोगों की ओर से ओला के एप को डिलीट करने की अपील की गई. ट्विटर पर यूजर्स की ओर से दावा किया जा रहा है कि ड्राइवर को नौकरी से निकाल दिया गया है. हालांकि,ओला की ओर से इस तरह का कोई ट्वीट नहीं किया गया है. जिसमें ड्राइवर के नौकरी जाने की बात कही गई हो.

  उत्तर भारत में लू के थपेड़ों से जीना मुहाल दिल्ली में रिकॉर्डतोड़ गर्मी

Check Also

लोगों का मनोबल बनाए रखने में मीडिया की बड़ी भूमिका: कलराज मिश्र

जयपुर (jaipur). राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) …