मेरे बेटे को पकड़ लो और एनकाउंटर कर दो

लखनऊ . कानपुर जिले के चौबेपुर में बृहस्पतिवार रात अपराधियों के साथ मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत हो गई तथा पांच पुलिस कर्मी, एक होमगार्ड का जवान और एक आम नागरिक घायल हो गए. इसके बाद शुक्रवार सुबह मुठभेड़ में पुलिस ने दो बदमाशों को मार गिराया. इसके अलावा यूपी पुलिस ने कानपुर एनकाउंटर के मुख्‍य आरोपी विकास दुबे पर पचास हजार के इनाम का ऐलान किया है.

vikas-dubey

पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि चौबेपुर थाने के दिकरू गांव में रहने वाले हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने के लिए बृहस्पतिवार देर रात पुलिस टीम गई थी. दुबे पर 60 आपराधिक मामले दर्ज हैं.

पुलिस दल जैसे ही दुबे के छिपने के ठिकाने पर पहुंचा, अचानक छत से गोलियों की बौछार शुरू हो गई और पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र मिश्रा, तीन उप निरीक्षक और चार कांस्टेबल की इस गोलीबारी में मौत हो गई.

  देवलाली-दानापुर किसान रेल मुज़फ़्फ़रपुर जंक्शन तक चलेगी

इस घटना के बाद से यूपी की योगी सरकार एक्शन मोड में है. शुक्रवार शाम सीएम योगी आदित्यनाथ कानपुर पहुंचे और घायल पुलिस कर्मियों से रीजेंसी अस्पताल में मुलाकात की.

इस घटना के मुख्य दोषी विकास दुबे की मां सरला देवी ने कहा है कि उसका एनकाउंटर कर दो. उन्होंने कहा, अच्छा होगा अगर वो खुद सरेंडर कर दे. धोखे से भागता रहा तो पुलिस उसे एनकाउंटर में मार देगी. मैं तो कहती हूं पकड़ लो और फिर एनकाउंटर कर दो. उसने बहुत बुरा किया है.

पुलिस महानिदेशक एच सी अवस्थी ने बताया कि विकास दुबे कानपुर का शातिर अपराधी और हिस्ट्रीशीटर है और उसके खिलाफ 60 मुकदमे दर्ज हैं. कानपुर के राहुल तिवारी नाम के व्यक्ति ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था.

  पीएम मोदी ने की पारदर्शी कराधान व्यवस्था लॉन्‍च

उन्होंने बताया कि विकास को पकड़ने के लिए पुलिस दल के गांव पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से गोलीबारी शुरू कर दी, जिसमें आठ पुलिस कर्मियों की मौत हो गई.

मुठभेड़ में क्षेत्राधिकारी पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र मिश्रा, उप निरीक्षक महेश चन्द्र यादव, उप निरीक्षक अनूप कुमार सिंह, उप निरीक्षक नेबू लाल, कांस्टेबल जितेंद्र पाल, कांस्टेबल सुल्तान सिंह, कांस्टेबल बबलू कुमार और कांस्टेबल राहुल कुमार की मौत हो गई.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चौबेपुर थानाक्षेत्र में अपराधियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को ‘विनम्र श्रद्धांजलि’ अर्पित करते हुए शुक्रवार को कहा कि जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी और पूरी घटना के लिए जिम्मेदार किसी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा. योगी ने शहीदों के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये की सहायता उपलब्ध कराने का भी ऐलान किया.

  आडवाणी-जोशी समेत बाकी कारसेवकों के मुकदमे वापस लिए जाने की मांग हुई तेज

योगी ने यहां पहुंचने के बाद सबसे पहले अस्पताल जाकर घायल पुलिसकर्मियों का हालचाल लिया. शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद योगी ने कहा, ‘जवानों ने जिस मजबूती के साथ अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन किया है, उसके लिए उनके कर्तव्यों के प्रति हम सबकी विनम्र श्रद्धांजलि है. उत्तर प्रदेश सरकार अपने इन सभी शहीद जवानों के परिवार वालों को. यद्यपि शहादत की कोई कीमत नहीं होती लेकिन उन परिवार वालों के साथ में प्रदेश सरकार पूरी मजबूती के साथ खड़ी है.’


Check Also

नैशनल डिजिटल हेल्थ मिशन शुरू करेेेेगी सरकार

आप यहां हैं :Home » विविध » नैशनल डिजिटल हेल्थ मिशन शुरू करेेेेगी सरकार नई …