अमेरिकी संसद भवन के बाहर कार चालक ने दो पुलिस अफसरों को रौंदा, एक की मौत

वाशिंगटन . कैपिटल (संसद भवन) के बाहर एक बैरिकेड पर एक कार चालक ने दो पुलिस (Police) अधिकारियों को कुचल दिया. इस घटना में एक पुलिस (Police) अधिकारी की मौत हो गई, जबकि दूसरे का उपचार किया जा रहा है. पुलिस (Police) अधिकारियों पर कार चढ़ाने के बाद हमलावर कार चालक चाकू लहराता हुआ दिखा. उल्लेखनीय है कि इस साल किसी पुलिस (Police) अधिकारी के ड्यूटी पर रहते हुए मौत का यह दूसरा मामला है.

कैपिटल पुलिस (Police) की कार्यवाहक प्रमुख योगानांडा पिटमैन ने बताया कि वीडियो में क्षतिग्रस्त कार का चालक हाथ में एक चाकू लिए और कई अधिकारियों की तरफ दौड़ता हुआ दिख रहा है. अधिकारियों ने संदिग्ध को गोली मार दी जिसकी अस्पताल में मौत हो गई. पिटमैन ने कहा मैं जनता से यूएस कैपिटल पुलिस (Police) और उनके परिवार के लिए प्रार्थना करते रहने का अनुरोध करता हूं. छह जनवरी की घटना और आज यहां हुई घटना के बाद अमेरिकी कैपिटल पुलिस (Police) के लिए यह बहुत मुश्किल वक्त है.

  आग से गेहूं की फसल जलकर राख

पुलिस (Police) ने मृतक अधिकारी की पहचान विलियम बिली इवांस के रूप में की है, जो विभाग में 18 वर्षों से कार्यरत थे. दो कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने बताया कि जांचकर्ताओं को शुरू में लगा कि संदिग्ध ने एक अधिकारी को चाकू घोंपा लेकिन बाद में यह स्पष्ट नहीं हुआ कि क्या वाकई अधिकारी को चाकू लगा क्योंकि कार बहुत जोर से उससे टकराई. कैपिटल में कुछ समय के लिए एहतियातन लॉकडाउन (Lockdown) लगा दिया गया है.

  चोरी के जेवरात के साथ तीन गिरफ्तार

शुक्रवार (Friday) को हुई घटना और छह जनवरी को हुए विद्रोह के बीच अभी कोई संबंध सामने नहीं आया है. अधिकारियों ने संदिग्ध की पहचान 25 वर्षीय नोह ग्रीन के रूप में की है. जांचकर्ता उसकी पृष्ठभूमि की पड़ताल कर रहे हैं और यह पता लगा रहे हैं कि क्या उसे कोई मानसिक बीमारी थी. उसके हाल के सोशल मीडिया (Media) पोस्ट से पता चला है कि ग्रीन खुद को इस्लाम के राष्ट्र और उसके संस्थापक लुईस फर्राखान का समर्थक बताता है. एक ऑनलाइन संदेश में उसने लिखा सच कहूं तो बीते कुछ साल बहुत मुश्किल भरे रहे हैं. मैंने अपने जीवन में कुछ बड़े, अकल्पनीय प्रयोग किए हैं.मैंने पीड़ा के कारण अपनी नौकरी छोड़ दी जिसके बाद अभी मैं बेरोजगार हूं और आध्यात्मिक यात्रा की तलाश में हूं.

  फर्जी जाति प्रमाण पत्र जारी करने पर दो लेखपाल सस्पेंड

राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि वह और उनकी पत्नी हमले के बारे में जानकार दुखी हैं और उन्होंने इवांस के परिवार के प्रति संवेदनाएं जताई हैं. उन्होंने व्हाइट हाउस में लगे झंडों को आधा झुकाने के निर्देश दिए हैं. यह हमला कैपिटल के समीप सुरक्षा जांच चौकी पर हुआ जिसका इस्तेमाल सीनेटर और कर्मचारी सप्ताहांत पर करते हैं. यह हमला सीनेट की तरफ वाली इमारत के प्रवेश द्वार से करीब 91 मीटर की दूरी पर हुआ. इससे पहले छह जनवरी को हुई घटना में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों की भीड़ कैपिटल में घुस गई थी.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *