Wednesday , 20 June 2018
Breaking News

ASTROLOGY

कर्म करो और फल की चिंता मत करो

यह तो सभी मानते हैं कि महाभारत एक धर्मयुद्घ ही नहीं बल्कि कर्तव्यगाथा भी है. इसमें गीता का ज्ञान मोह एवं अज्ञान से ग्रस्त मानव को जीवन में कर्तव्य की सर्वोच्चता का बोध करवाता है. समाज एवं देश की उन्नति के लिए सभी को अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से पालन करना चाहिए. आज से लगभग पांच हजार वर्ष पूर्व मार्गशीर्ष ... Read More »