प. बंगाल चुनाव बाद हिंसा में सीबीआई ने हत्या के 2 मामले दर्ज किए

नई दिल्ली (New Delhi) . CBI ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) के नतीजों के बाद हुई हिंसा के मामले मेंहत्या (Murder) से संबंधित दो और प्राथमिकी जबकि एक महिला का शील भंग करने के आरोप में एक अन्य प्राथमिकी दर्ज की है. इसके साथ ही केंद्रीय एजेंसी द्वारा हिंसा को लेकर दर्ज मामलों की संख्या 43 हो गई है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि पहली प्राथमिकी 16 मई को कोलकाता (Kolkata) के गोल्फ ग्रीन इलाके में परिवार पर हमले और सदस्यों की लाठी, लोहे की छड़ और ब्लेड आदि से पीटने की शिकायत पर दर्ज की गई है.

उन्होंने बताया कि बाद में पीड़ितों का इलाज किया गया. अधिकारियों ने बताया कि बाद में एक पीड़ित ने अदालत का रुख किया और दारा 354 और धारा-506 के तहत मामला दर्ज करने का अनुरोध किया जिसकी मंजूरी अदालत ने दी. उन्होंने बताया कि अदालत के निर्देश के बाद पुलिस (Police) ने इन दो धाराओं को प्राथमिकी में जोड़ा. उन्होंने बताया कि CBI नेहत्या (Murder) के दो और मामलों की जांच अपने हाथ में ली है. इनमें से एक मामले की जांच पूर्व में उत्तर 24 परगना के अम्डंगा पुलिस (Police) द्वारा की जा रही थी जिसने 10 मई को पीड़ित का शव फंदे से लटकता मिलने पर कथित तौर पर अप्राकृतिक मौत का मामला दर्ज किया था. CBI प्रवक्ता आरसी जोशी ने बताया, ‘‘पीड़िता की पत्नी ने आरोपी परहत्या (Murder) का आरोप लगाया है.’’ सूत्रों ने बताया कि राज्य सरकार (State government) के मंत्री की पुलिस (Police) जांच को कथित प्रभावित करने के आरोप भी एजेंसी की नजर में है क्योंकि स्थानीय भाजपा नेता ने आरोप लगाया है कि अप्रकृतिक मौत का मामला दर्ज किया गया जबकि पीड़ित कीहत्या (Murder) हुई थी. एक अन्य मामले में आरोप है कि भीड़ 27 अप्रैल को पीड़ित के घर में दाखिल हुई और जबरन उसे गंगरामपुर कलडिघी ले गई. जोशी ने बताया, ‘‘आरोप लगाया है कि आरोपियों ने पीड़ित पर लोहे की छड़, लाठी और खतरनाक हथियारों से हमला किया और गंभीर हालत में छोड़ा. पीड़ित को गंगारामपुर कलदिघी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां पर 29 अप्रैल को उसकी मौत हो गई.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *