नागरिकता संशोधन कानून में बदलाव कर सकता है केंद्र, अठावले ने दिए संकेत


नई दिल्ली . देश भर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों के दबाव में आकर केंद्र सरकार इस कानून में बदलाव करने के लिए तैयार हो गई है. यह संकेत केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री रामदास अठावले के एक बयान में मिला है. निर्भया के आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग को लेकर मौन व्रत पर बैठे अन्ना हजारे से मुलाकात के बाद अठावले ने कहा कि सीएए कतई मुस्लिम विरोधी नहीं है, लेकिन इससे लोगों के बीच गलतफहमी पैदा हो गई है.

  देश के कई हिस्सों में भीषण गर्मी, 24 घंटे तक लू से राहत नहीं

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि लोगों की भावनाओं का विचार करते हुए इस पर बदलाव किया जा सकता है. केंद्र सरकार ने इस पर सुझाव मांगे हैं. गौरतलब है कि पिछले दिनों गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था कि सरकार सीएए पर जरा भी पीछे नहीं हटेगी. हालांकि, रालेगण सिद्धि में पिछले 34 दिन से मौन व्रत पर बैठे अन्ना हजारे से मुलाकात के बाद रामदास अठावले ने संकेत दिए हैं कि सरकार कानून पर विचार के मूड में है.

  चार धाम परियोजनाः बीआरओ को बड़ी सफलता, चंबा शहर के नीचे बनाई सुरंग

इससे पहले लखनऊ में रैली संबोधित करते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था 70 साल से पीड़ित लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीवन का नया अध्याय शुरू करने का मौका दिया है. मैं डंके की चोट पर कहने आया हूं कि जिसको विरोध करना है करे, सीएए किसी भी स्थिति में वापस नहीं होगा. गृहमंत्री अमित शाह ने कहा सीएए को लोकसभा में मैंने पेश किया है. मैं विपक्षियों से कहना चाहता हूं कि आप इस बिल पर सार्वजनिक रूप से चर्चा कर लें. सीएए अगर किसी भी व्यक्ति की नागरिकता लेता हो, तो दिखाएं. इस बिल में कहीं पर भी किसी की नागरिकता छीनने का प्रावधान नहीं है.

  आयकर विभाग के प्रधान आयुक्त ने की आत्महत्या

Check Also

103 साल की दादी ने जीती कोरोना से जंग, बीयर पीकर मनाया जश्न

लंदन. कोरोना से अभी तक दुनियाभर में लाखों लोग जान गंवा चुके हैं. महामारी (Epidemic) …