मुख्यमंत्री गहलोत ने लगवाई कोरोना वैक्सीन

वैक्सीन लगवाने के बाद बोले गहलोत-राजस्थान (Rajasthan)में हम जीती हुई जंग को ना हारे इसलिए लापरवाही ना बरतें प्रोटोकॉल का पालन करें

जयपुर (jaipur) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने आज सुबह करीब 11:30 बजे एसएमएस के इनफेक्शियस डिजीज अस्पताल आईडीएचपहुंचकर कोविड वैक्सीन की प्रथम डोल लगवाई इस दौरान उन्होंने कहा कि कोविड वैक्सीन को लेकर डरें नहीं, यह सुरक्षित है, प्राथमिकता क्रम से बारी आने पर वैक्सीन लगवाएं व आस-पास के लोगों को भी वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करे.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने वैक्सीन लगवाने के बाद मीडिया (Media) को कहा कि मैंने पहले भी कहा था जिस प्रकार राजस्थान (Rajasthan)में कोरोना मैनेजमेंट बहुत शानदार हुआ है, जिसको एप्रीशिएट पूरे देश ने किया है, उसी ढंग से वैक्सीनेशन कामयाब बहुत अच्छा होगा, वही मैंने अनुभव किया है और आज दो-ढाई लाख प्रतिदिन वैक्सीन लगना, राजस्थान (Rajasthan)में वैक्सीनेशन होना बड़ी बात है, पूरे देश के वैक्सीनेशन का करीब 25 पर्सेंट सिर्फ राजस्थान (Rajasthan)में हो रहा है. ये इसलिए है कि जो कोरोना का मैनेजमेंट शानदार हुआ है तो सबका कॉन्फिडेंस बढ़ा हुआ है, इसलिए आगे बढ़-बढक़र के लोग वैक्सीन लगवा रहे हैं और यही कारण है कि पूरे देशभर के वैक्सीनेशन का 25 पर्सेंट लगभग होना बड़ी बात है, बड़ी उपलब्धि है. उन्होने कहा कि तमाम नर्सिंग स्टूडेंट हों, चाहे वो कर्मचारी हैं, डॉक्टर्स हों, एक टीम ऐसी बन गई राजस्थान (Rajasthan)में, रिदम बन गया है पूरे राजस्थान (Rajasthan)के अंदर, जबसे कोरोना मार्च में आया था 2020 में, मार्च वापस चल रहा है, एक साल तक अपने आपको तैयार रखना, मैं समझता हूं कि तारीफ के काबिल है.

  लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज में 100 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित

गहलोत ने कहा कि राजस्थान (Rajasthan)में जो वर्ग थे, वो चाहे हमारे धर्म गुरु थे, चाहे वो एक्टिविस्ट्स थे, सामाजिक संस्थाएं थीं, विपक्ष की पार्टियां थीं, आम जनता थी, सबने मिलकर कोरोना की जंग लड़ी, इसीलिए हम कामयाब हुए, परंतु मैं मैसेज देना चाहूंगा पब्लिक को कि आज जो दिल्ली में, पंजाब (Punjab) में, छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में, महाराष्ट्र (Maharashtra) में, केरल (Kerala) में, वापस बढ़ रहा है ये कोरोना, कई जगह लॉकडाउन (Lockdown) की नौबत आ गई है, तो राजस्थान (Rajasthan)में हम लोग जीती हुई जंग को हार नहीं जाएं कहीं, इसलिए जरूरी है कि हम लोग यहां पर वैक्सीनेशन के साथ-साथ में प्रोटोकॉल जो है, मास्क का है, सोशल डिस्टेंसिंग का है, हाथ धोने का है, उसपर लापरवाही बिल्कुल नहीं करें.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *