सीएम गहलोत, डिप्टी सीएम में वर्चस्व की लड़ाई


प्रदेश प्रभारी पांडे ने माना-कांग्रेस विधायको में है मतभेद, राजस्थान (Rajasthan) कांग्रेस में कहीं पर निगाहें कहीं पर निशाना

जयपुर (jaipur). मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने भारतीय जनता पार्टी द्वारा तथाकथित लगाये जा रहे कांग्रेस में अन्र्तकलह के आरोपो को राज्यसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के दोनो उम्मीदवारों को जीताकर एक बार मिथ्या साबित कर दिया था पर राजनीति कब करवट बदल ले कहा नहीं जा सकता सो पिछले दो दिनों से राजस्थान (Rajasthan) में कांग्रेस के कुछ विधायकों में मतभेद है को प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने स्वीकार किया है इसके साथ ही उन्होने कहा है कि इतना बड़ा अन्र्तकलह नहीं है इसे शीघ्र ही सुलझा लिया जायेगा.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) गहलोत ने पिछली रात ही भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया था कि भाजपा के कुछ नेताओं ने कांग्रेस के विधायकों की खरीद फरोख्त करने की कोशिश राज्यसभा चुनाव के दौरान की थी उस कोशिश को हमने हमाने विधायकों ने सफल नहीं होने दिया पर अब फिर मेरी सरकार (Government) को गिराने की नाकाम कोशिश की जा रही है कांगे्रस में अन्र्तकलह का ऊंट किस करवट बैठेगा यह साफ तब नहीं हो रहा है जब गहलोत सरकार (Government) में डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट अपने समर्थक कुछ विधायकों के साथ दिल्ली चले गए हालांकि उनका दिल्ली जाने का मकसद कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने का बताया जा रहा है पर उससे पहले अपुष्ट खबरों की खबर से निकलकर आ रहा है कि पायलट मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के द्वारा चलाई जा रही सरकार (Government) की नीतियों और राज्यसभा चुनाव के दौरान विधायकों की खरीद फरोख्त की कोशिश भारतीय जनता पार्टी कर रही है इस बाबत विधानसभा में मुख्य सचेतक महेश जोशी ने पुलिस (Police) थाने में रिपोर्ट भी दर्ज की थी जिसके सम्बंध में मुख्यमंत्री (Chief Minister) गहलोत, डिप्टी सीएम सचिन पायलट को एसओजी ने पिछली 10.7.2020 को पूछताछ के लिए एक नोटिस दिया था जिस पर सचिन पायलट ने नाराजगी जताते हुए मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की शिकायत कांग्रेस के राष्ट्रीय आलाकमान से करना चाहते है उनका आरोप है कि गहलोत उन्हें ऐनकेन प्रकारेण हासिये पर रखने का प्रयास कर रहे है.

  पॉलिटेक्निक कॉलेज में डिप्लोमा आवेदन की तिथियां बढ़ाई

खबर यह भी है कि अभी तक के कांग्रेस के इतिहास में सचिन पायलट सबसे अधिक समय के प्रदेश अध्यक्ष अध्यक्ष बन गए है ऐसे में पंचायतों-निकायों के चुनाव होने वाले है जिसमें उम्मीदवारों के चयन पर मुख्यमंत्री (Chief Minister) अपना एकाधिकार कायम करना चाहते है सो…यदा कदा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बदले जाने की खबरे साया होती रहती है. ज्ञात रहे डेढ साल पहले जब काग्रेस की गहलोत सरकार (Government) सत्ता में आई थी तब करीब दो विधायकों का समर्थन चाहिये था सरकार (Government) बनाने के बाद करीब 10 निर्दलीय ने बिना शर्त और 6 बसपा के विधायक कांग्रेसी बन गए ऐसे में गहलोत सरकार (Government) को 120 विधायकों का समर्थन हासिल था कोरोना संक्रमण के प्रबंधन प्रगति के बीच मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) द्वारा मीडिया (Media) के माध्यम से भाजपा पर सरकार (Government) गिराने के आरोप के बीच एसओजी के लैटर पेड पर आज ट्विटर के माध्यम से मुख्यमंत्री (Chief Minister) का कहा जाना एसओजी को जो कांग्रेस विधायक दल ने बीजेपी नेताओं द्वारा खरीद फरोख्त की शिकायत की थी उस संदर्भ में मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, चीफ व्हिप एवम अन्य कुछ मंत्री व विधायकों को सामान्य बयान देने के लिए नोटिस आए है कुछ मीडिया (Media) द्वारा उसको अलग ढंग से प्रस्तुत करना उचित नहीं है पर डिप्टी सीएम की एसओजी के लैटर पर नाराजगी सिद्ध करती है कि प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख दोनो नेताओं के मन में भेद और विचारो में मतभेद है ऐसे में भारतीय जनता पार्टी जलती हुई आग में अपने हाथ सेकने की कोशिश कर रही है जैसा की भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अध्यक्ष सतीश पूनिया, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, भाजपा के पूर्व मंत्री राजेन्द्र राठौड़ के बयान है कि कांग्रेस अपने घर की अन्र्तकलह का ठीकरा भाजपा पर बेवजह फोडऩा चाहती है.

  राजस्‍थान का शेर पूर्व रक्षा मंत्री जसवंत सिंह का लम्‍बी बीमारी के बाद निधन

Check Also

प्रो. रेणु जैन देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की कुलपति

आप यहां हैं :Home » प्रो. रेणु जैन देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की कुलपति भोपाल . …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *