Saturday , 27 February 2021

साप्ताहिक समीक्षा बैठक में कलक्टर ने दिए निर्देश : जरूरतमंदों को पारदर्शिता के साथ मिले योजनाओं का लाभ

उदयपुर (Udaipur). राज्य सरकार (State government) हर तबके के विकास को ध्यान में रखते हुए कई लोकहितकारीर योजनाआंें एवं कार्यक्रमों का संचालन कर रही है, ऐसे में सभी अधिकारियों को दायित्व है कि जरूरतमंद अंतिम तबके तक इन योजनाओं का लाभ पूर्ण पारदर्शिता के साथ तय समय पर मिलें. यह बात जिला कलक्टर (District Collector) चेतन देवड़ा ने सोमवार (Monday) को कलेक्ट्रेट सभागार में साप्ताहिक समीक्षा बैठक के दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारियों से कही. बैठक में विभिन्न विभागीय अधिकारियों से बजट घोषणा की प्रगति, सम्पर्क पोर्टल, सीएम हेल्पलाइन, जनसुनवाई व सतर्कता प्रकरण, लोक सेवा गारन्टी में प्रगति,, सुनवाई का अधिकार, पीएमओ सीएमओ व गर्वनर हाउस से जुड़े प्रकरणों के निस्तारण एवं विभागीय गतिविधियों व योजनाओं की प्रगति पर समीक्षा की गई.

पेन्डेंसी ज्यादा समय तक अच्छी नहीं

कलक्टर देवड़ा ने कहा कि आमजन को राहत प्रदान करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है. किसी भी परिवादी की समस्या एवं शिकायत का समाधान निर्धारित समयावधि में नहीं हो पाना अच्छी बात नहीं. उन्होेने कहा कि कोई भी पेन्डेंसी अधिक समय तक रहती है तो इससे अनेक अव्यवस्थाएं पैदा होने की संभावना रहती है. उन्होंने आमजन को राहत प्रदान करने वाले विभिन्न पोर्टल, जनसुनवाई कार्यक्रम एवं अन्य विकल्पों को और अधिक प्रभावी बनाने पर जोर दिया. कलक्टर ने कहा कि सरकार की मंशा के अनुरूप हर अधिकारी अपने दायित्वों का प्रभावी क्रियान्वयन तय समय में पूर्ण करें और जहां जरूरत है वहां अन्य विभागों से समन्वय स्थापित कर कार्यों को अंजाम दे. उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे उपखण्ड अथवा ब्लॉक स्तर के अधीन अधिकारियों से नियमित फीडबैक ले और समय-समय पर प्रगति की जानकारी लेकर प्रगतिरत कार्यों को शीघ्र पूरा करें और वस्तु स्थिति के संबंध में अवगत कराते रहे.

  वेदांता चैयमेन अनिल अग्रवाल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को भेंट की ‘समाधान‘ परियोजना में उगाई स्ट्रॉबेरी

बजट घोषणाओं की अनुपालना का लिया फीडबैक

जिला कलक्टर (District Collector) ने विभागवार समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री (Chief Minister) बजट घोषणाओं के तहत किये गये कार्यों एव जारी कार्यों की प्रगति के साथ फ्लेगशीप कार्यक्रमों पर भी चर्चा की. उन्होंने इन कार्यों में गुणवत्ता बनाए रखने के साथ ही इन्हें शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए. कलक्टर ने सभी अधिकारियों से कहा कि जहां भी उनके विभाग से संबंधित कोई कार्य जारी तो उसकी मॉनिटरिंग करना सुनिश्चित करे ताकि बाद में कोई समस्या न हो.

  दोनों घुटने बदलकर महिला के टेड़े पैर सीधे किए

सोशल वेलफेयर स्कीम का लाभ समय पर मिले

कलक्टर ने समाज कल्याण योजनाओं की प्रगति पर समीक्षा करते हुए इनका लाभ हर पात्र को दिलाने के निर्देश दिए. उन्होंने पालनहार योजना की प्रगति पर समीक्षा करते हुए इनके क्रियान्वयन में तेजी लाने तथा इनके वेरिफिकेशन के संबंध में शिक्षा एवं महिला एवं बाल विकास विभाग को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि गरीब व्यक्ति का जो हक है वो उसे समय पर मिले इसके लिए प्रभावी प्रयास किए जाए.

सिलिकोसिस पीडि़तों के लिए लगे शिविर

कलक्टर ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री (Chief Minister) सिलिकोसिस पीडि़तों को लेकर गंभीर है, सिलिकोसिस पीडि़त एवं उनके परिजनों को हरसंभव सहायता मिले इसके लिए प्रभावी प्रयास हो. कलक्टर देवड़ा ने सिलिकोसिस पीडितों के सहायतार्थ एवं राजकीय योजनाओं की समीक्षा की और लंबित प्रकरणों पर संबंधित विभागों को कार्यवाही करने के निर्देश दिए. उन्होंने सिलिकोसिस पीडि़तों के लिए शिविर लगाने के भी निर्देश दिए.

इन योजनाओं की भी हुई समीक्षा:

बैठक में कलक्टर देवड़ा ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) जांच योजना, निःशुल्क दवा योजना, राज योजना, विभिन्न स्वास्थ्य सेवाएं, मनरेगा, स्वच्छ भारत मिशन, विभिन्न छात्रवृति योजनाएं, पेंशन, श्रमिक कल्याण, आदि योजनाओं एवं कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा इनके प्रभावी क्रियान्वयन के निर्देश दिए. कलक्टर ने जिले के विभिन्न ब्लॉक्स में राज्य सरकार (State government) द्वारा प्रारंभ किए गए महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल के बेहतर संचालन के साथ शिक्षा के स्तर को और ऊंचा उठाने की बात कही. उन्होंने कोरोना महामारी (Epidemic) के बाद प्रारंभ हुए विद्यालयों एवं संचालित आगंनबाड़ी केन्द्रों में पूर्ण सतर्कता बरतने के निर्देश दिए और कहा कि बच्चों की सुरक्षा के लिए कोरोना प्रोटोकॉल की पालना सुनिश्चित की जाए. बैठक में समाज कल्याण, श्रम, चिकित्सा, जिला परिषद्, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास व महिला अधिकारिता, अल्पसंख्यक, मुख्य आयोजना, आरएनटी एवं कॉलेज शिक्षा विभागों की समीक्षा करते हुए महत्वपूर्ण निर्देश दिए. बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (District Collector) (शहर) अशोक कुमार, जिला परिषद के एसीईओ शैलेष सुराणा सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *