कृषि वैज्ञानिक बनकर दें देश के विकास में योगदान


अब कृषि क्षेत्र भी तेजी से आगे बढ़ रहा है और इसमें भी रोजगार की संभावनाएं बढ़ गयी हैं. इस क्षेत्र में नई तकनीक के इस्तेमाल के बाद वेतन भी तेजी से बढ़ा है. इसलिए अब युवाओं के लिए यह भी पसंदीदा क्षेत्र बनकर उभरा है. आधुनिकता के इस दौर में कृषि के प्रति युवाओं का आना भविष्य के लिए एक अच्छा संकेत भी है.

अगर आप भी कृषि अनुसंधान के क्षेत्र से जुड़कर कृषि वैज्ञानिक या फिर एक बेहतर किसान बनना चाहते हैं तो फिर इसके लिए आपको 12वीं की परीक्षा अच्छे अंकों से पास कर बीएससी एग्रीकल्चर या फिर बीएससी एग्रीकल्चर ऑनर्स (Nurse) की डिग्री हांसिल करनी होगी. यह डिग्री एग्रीकल्चर, वेटनेरी साइंस, एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग, फॉरेस्टरी, हॉर्टीकल्चर, फूड साइंस और होम साइंस में से किसी भी एक विषय में ले सकते हैं. अपनी पढ़ाई पूरी करके आप सीधे खेती और इससे संबंधित गतिविधियों से जुड़कर कृषि क्षेत्र में देश के विकास में अपना अहम योगदान दे सकते हैं.

  NIC ने CBSE के स्कूलों के लिए कोलैबकैड सॉफ्टवेयर किया विकसित

कृषि क्षेत्र में करियर की संभावनाएं

आज भी भारत की करीब 70 फीसदी जनसंख्या जीविका के लिए पूरी तरह से कृषि पर निर्भर है. ऐसे में कृषि क्षेत्र में पढ़े लिखे किसानों की सख्त जरूरत है.कृषि क्षेत्र में आप मार्केटिंग, एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग या मैनेजमेंट के क्षेत्र में अपना सुनहरा करियर बना सकते हैं.
इसके अलावा आप नेशनेलाइज्ड बैंकों में बतौर कृषि विस्तार अधिकारी, ग्रामीण विकास अधिकारी, फील्ड ऑफिसर बनकर अपना शानदार करियर बना सकते हैं.इसके साथ ही राज्यों के विभिन्न कृषि विभागों में आपके लिए रोजगार की अपार संभावनाएं मौजूद हैं.
कृषि महाविद्यालयों में प्रवेश पाने के लिए युवाओं के बीच मची होड़ से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि इन युवाओं के सिर पर कृषि क्षेत्र में करियर का जुनून किस कदर हावी है.

  कैबिनेट का फैसला, हिमाचल में एक फरवरी से खुलेंगे स्कूल : सरकार ने पहले 12 फरवरी से स्कूलों में छुट्टी की घोषणा की थी

इन संस्थानों से ले सकते हैं प्रशिक्षण

अगर आप भी कृषि क्षेत्र में करियर तलाश रहे हैं तो इसके लिए बेहतरीन संस्थानों के बारे में जानकारी भी हासिल कर लें.
आप हैदराबाद, पुणे (Pune), ग्वालियर (Gwalior), इंदौर (Indore) और पालमपुर स्थित कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर से कृषि के क्षेत्र में प्रशिक्षण ले सकते हैं.
कोलकाता (Kolkata) और भुवनेश्वर (Bhubaneswar) के यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ एग्रीकल्चर से भी आप डिग्री हांसिल कर सकते हैं.
उदयपुर (Udaipur) के राजस्थान (Rajasthan)एग्रीकल्चर युनिवर्सिटी में कृषि के क्षेत्र में प्रशिक्षण के साथ डिग्री भी पा सकते हैं.
इलाहाबाद स्थित इलाहाबाद एग्रीकल्चर इंस्टीट्यूट से प्रशिक्षण लेकर आप कृषि क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं.
अलीगढ़ (Aligarh) विश्वविद्यालय के सेंटर ऑफ एग्रीकल्चर में दाखिला लेकर आप कृषि क्षेत्र की बारीकियों को समझ सकते हैं.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *