फिरोजाबाद में नागरिकता संशोधन उपद्रव में मरने वालों की संख्या सात हुई

फिरोजाबाद . जिले में नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में प्रदर्शन के दौरान बीस दिसम्बर को हुए उपद्रव में घायल एक युवक की मौत हो जाने से अब मरने वालों की संख्या अब छह से बढ़कर सात हो गई है.

एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह ने बताया कि 26 वर्षीय अबरार निवासी मसरूरगंज थाना रसूलपुर फिरोजाबाद बीस दिसम्बर को घायल हो गया था जिसका इलाज दिल्ली में हो रहा था और 10 जनवरी को वह डिस्चार्ज होकर आया था जिसकी मृत्यु रविवार को हो गई. एसपी सिटी का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मृत्यु का कारण स्पष्ट हो सकेगा कि डिस्चार्ज होने के बाद उसकी मृत्यु किन कारणों से हुई है. शव का पोस्टमार्टम रविवार रात में जिला अस्पताल में कराया गया और पुलिस की चाक चैबंद व्यवस्था में देर रात मोहम्मदगंज कब्रिस्तान में शांतिपूर्ण एवं गमगीन माहौल में शव को दफनाया गया.

  दिग्विजय सिंह ने कहा, आंदोलनकारियों से सीधे संवाद करे पीएम मोदी और शाह

गौरतलब है कि फिरोजाबाद में बीस दिसम्बर को शुक्रवार नमाज के बाद थाना दक्षिण क्षेत्र नालबंद चैकी से उपद्रव की शुरुआत हुई थी और यह थाना रसूलपुर क्षेत्र नैनी चैराहे पर भी भी उपद्रव हुआ जिसमें अबरार गोली लगने का शिकार हो गया था. उस दिन आगजनी, तोड़फोड़, पथराव व फायरिंग हुई थी जिसमें पुलिसकर्मी एवं तमाम जनता के लोग घायल हुए थे.

  चीन के बाद विश्व के कई देशों में फैल चुका कोरोना वायरस, अब वैज्ञानिकों की नजर

पहले दिन जनता के दो लोगों की मौत हो गई थी और गंभीर घायलों में लगातार मरने का सिलसिला शुरू हो गया था और कुल मरने वालों की संख्या छह हो गई थी लेकिन घटना के 23 दिन बाद एक अन्य अबरार की मृत्यु हो जाने से अब तक मरने वालों की संख्या सात हो गई है. मृतक के परिजनों का कहना है कि अबरार बेलदारी (मजदूरी) करके वापस आ रहा था उसी दौरान उसके गोली लगी और वह गंभीररूप से घायल हो गया था जिसका इलाज दिल्ली के अपोलो अस्पताल में हो रहा था.

  शहरी सरकारी बैंकों में पांच सालों में 1000 हजार धोखाधड़ी के मामले आए, 220 करोड़ का नुकसान

Check Also

ट्रेन से कटकर बच्चे समेत महिला की मृत्यु

औरैया. जिले के दिवियापुर क्षेत्र में मंगलवार की सुबह दिल्ली-कोलकाता रेलमार्ग पर कहिंजरी व गपकापुर …