अगस्ता वेस्टलैंड केस में मिशेल की जमानत पर फैसला सुरक्षित

नई दिल्ली (New Delhi). अगस्ता वेस्टलैंड मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल की अंतरिम जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है. मिशेल ने स्वास्थ्य और उम्र का हवाला देते हुए अंतरिम जमानत याचिका दाखिल की थी.

अदालत ने इस पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है. मिशेल ने हाईकोर्ट से CBIऔर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) केस के खिलाफ जमानत की मांग की है. क्रिश्चियन मिशेल के वकील अल्जो के जोसेफ की ओर से लगाई गई याचिका में कहा गया कि याचिकाकर्ता 59 साल का है और बीमार है. उसकी उम्र और बीमारी उसे कोरोना संक्रमण के लिए दूसरे कैदियों की तुलना में अधिक संवेदनशील बना रही है. इस वजह से उसे भीड़-भाड़ वाले जेलों में रखना उचित नहीं है. ऐसे में उसे जमानत दे दी जाए.

  थाना प्रभारी की आत्महत्या की जाए सी‍बीआई जांच: बेनीवाल

याचिका में क्रिश्चियन मिशेल ने कहा कि वह गिरफ्तारी के दिन से न्यायिक हिरासत में है. पूरी कार्यवाही के दौरान वह सम्मानजनक और विनम्रता से पेश हुआ है. मिशेल को पिछले साल दुबई से प्रत्यर्पित किया गया था. CBIएक बिचौलिए के रूप में सौदे में उसकी कथित भूमिका की जांच कर रही है. वहीं ईडी मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच कर रही है. प्रत्यर्पण के बाद से ही क्रिश्चियन मिशेल तिहाड़ जेल में बंद है.

  बिहार के युवक के साथ लिविंग रिलेशनशिप में रह रही युवती की लाश बोरे में मिली

Check Also

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सीडीएस और तीनों सेना प्रमुखों के साथ की बैठक

नई दिल्ली (New Delhi). सीमा पर भारत और चीन के बीच तनातनी जारी है. इस …