बर्ड फ्लू के खतरे के बीच दिल्ली सरकार ने जारी की एडवाइजरी

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने शहर में बर्ड फ्लू के मामलों के मद्देनजर बुधवार (Wednesday) को एक एडवाइजरी जारी की है, जिसमें लोगों से नहीं घबराने और आधा पका चिकन, आधा उबला या आधा तला हुआ अंडा नहीं खाने जैसे दिशानिर्देशों के पालन की अपील की गई है. पिछले एक सप्ताह में संजय झील में कई बत्तख और शहर के विभिन्न पार्कों में बड़ी संख्या में कौवे मृत पाए गए हैं. राजस्व विभाग ने शहर की सीमाओं पर वॉलंटियर्स की टीमों को तैनात किया है ताकि अवैध रूप से बाहर से लाए जा रहे पशुओं व डिब्बाबंद और प्रोसेस्ड चिकन पर रोक लगाई जा सके.

  कोरोना से जंग शुरू दिल्ली के एम्स में लगा देश का पहला टीका

दिल्ली के स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय (डीजीएचएस) द्वारा बुधवार (Wednesday) को जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि एएच5एन8 पक्षियों के लिए अत्यधिक संक्रामक होता है, लेकिन मनुष्यों में इसके प्रभाव के साथ-साथ एवियन इन्फ्लूएंजा (एएच5एन8) वायरस के संक्रमण की आशंका कम होती है. स्वास्थ्य विभाग ने एडवाइजरी जारी करते हुए लोगों से ऐहतियात बरतने और नहीं घबराने की अपील की है. उसमें कहा गया है कि बीमार दिखने वाले व संक्रमित चिकन के संपर्क में आने से बचें. पक्षी के मल के सीधे संपर्क में आने से बचें. पक्षियों को खिलाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले कटोरे और उनके पिंजरों को साबुन या डिटर्जेंट से अच्छी तरह से धोएं.

  पीएम मोदी के करीबी पूर्व प्रशासनिक अधिकारी एके शर्मा का भाजपा में प्रवेश

डीजीएचएस के अधिकारियों ने कहा कि चिकन की दुकानों से निकलने वाले सभी कचरे का निपटान सही तरीके से किया जाना चाहिए. एडवाइजरी में लोगों को सावधान किया गया कि वे सीधे हाथों से मृत पक्षियों को न छूएं. यदि कोई पक्षी मृत पाया जाता है, तो नियंत्रण कक्ष को फोन नंबर 23890318 पर सूचित करें. उसमें कहा गया है कि 30 मिनट तक 70 डिग्री सेल्सियस पर पूरी तरह पकाए गए अंडे और पोल्ट्री उत्पाद को ही खाएं. आधा पका हुआ चिकन या आधा उबला हुआ और आधा तला हुआ अंडा नहीं खाएं. उसमें कहा गया है कि पके हुए मांस के पास कच्चे मांस को न रखें. कच्चे पोल्ट्री उत्पादों को छूते समय बार-बार हाथ धोएं. व्यक्तिगत स्वच्छता का ध्यान रखें और आसपास में सफाई बनाए रखें.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *