दिल्ली हिंसा के षड़यंत्र का खुलासा करेगा पुलिस के हाथ लगा उपद्रवियों का रजिस्टर


नई दिल्ली (New Delhi). दिल्ली हिंसा के षड़यंत्र का खुलासा पुलिस (Police) के हाथ लगे उपद्रवियों के रजिस्टर से होगा. इस रजिस्टर में उपद्रवियों का बहीखाता दर्ज है. दरअसल, दिल्ली हिंसा की साजिश की जांच कर रही दिल्ली पुलिस (Police) की स्पेशल सेल को लगातार विदेशी फंडिंग के सुराग मिल रहे हैं. हिंसा से पहले जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी के मेंबर के खाते में ओमान और यूनाइटेड किंगडम से लाखों रुपये आए थे.

दरअसल, स्पेशल सेल ने यूएपीए एक्ट में जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी के मेंबर मिरान हैदर को गिरफ्तार किया था. मीरान हैदर के घर से एक रजिस्टर और ढाई लाख रुपये कैश बरामद किया गया है. दिल्ली हिंसा से पहले यानी जनवरी महीने में मिरान हैदर के अकाउंट में 5 लाख आए थे. स्पेशल सेल ने मीरान हैदर के पास जो रजिस्टर बरामद किया है, उसमें साफ लिखा है कि कहां से कितने पैसे मिले, कहां कितना खर्च हुआ. बकायदा नाम के साथ सभी डिटेल है. रजिस्टर को हैंडराइटिंग की जांच के लिए फॉरेंसिंक लैब भेजा गया है. पुलिस (Police) की स्पेशल सेल का दावा है कि हिंसा की साजिश उसी वक्त बन गई जब केंद्र सरकार (Government) ने नागरिकता कानून प्रोसेस किया था. पुलिस (Police) के मुताबिक, नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship amendment law) (सीएबी) का प्रोसेस जैसे ही शुरू हुआ, तैसे ही हिंसा का प्लान बना लिया गया. हिंसा की पहली शुरुआत 13-15 दिसम्बर को जामिया इलाके से हुई थी. दिसंबर में जामिया हिंसा के ठीक बाद बनाया गया जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी नाम का संगठन.

  भारत में कोविड-19 जांच की संख्या दो करोड़ के पार, 6 जुलाई को जांच की संख्या 1 करोड़ के पार

जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी को जामिया के स्टूडेंट, आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोशिएशन, स्टूडेंट इस्लामिक ऑर्गनाइजेशन, मुस्लिम स्टूडेंट फोरम, जामिया स्टूडेंट फोरम जैसे कई संगठन के लोगों ने शामिल होकर बनाया था. जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी को पीएफआई समेत कई जगहों से फंडिंग मिल रही थी. जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी के सदस्य दिल्ली के एन्टी सीएए प्रोटेस्ट साइट को लीड कर रहे थे और प्रोटेस्टर को गाइड कर रहे थे. जामिया हिंसा के बाद जामिया यूनिवर्सिटी ने साफ किया था कि जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी यूनिवर्सिटी की कोई ऑफिसियल बॉडी नहीं.

  पहली तिमाही में Bank of india ने मुनाफे में की तीन गुना वृद्धि, शुद्ध लाभ बढ़कर 844 करोड़ रुपये हुआ

Check Also

Gujarat Hospital Fire : अहमदाबाद के कोविड अस्पताल में आग, 8 कोरोना मरीजों की मौत

गुजरात के अहमदाबाद (Ahmedabad) के नवरंगपुरा में गुरुवार (Thursday) तड़के एक कोविड डेडिकेटेड अस्पताल के …