कोई रोल नहीं देता था, सिर्फ 50 रुपये मिलते थेए संघर्ष के दिनों को याद कर भावुक हुए ‘जेठालाल’


मुंबई (Mumbai) . दिलीप जोशी यानी ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के जेठालाल को ऐक्टिंग की दुनिया में 31 साल पूरे हो चुके हैं. आज बच्चों से लेकर बूढ़े तक सभी उन्हें ‘जेठालाल’ के नाम से जानते हैं. लेकिन यहां तक पहुंचने का सफर इतना आसान नहीं रहा. दिलीप जोशी साल 1989 से इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं. उन्होंने शाहरुख खान से लेकर सलमान खान तक के साथ कई फिल्मों में काम किया. पर वह पहचान नहीं मिली, जिसकी उन्हें चाह थी. दिलीप जोशी ने बताया कि रोल न मिलने के बावजूद उन्होंने अपने ऐक्टिंग के जुनून को मरने नहीं दिया और फिर थिअटर का रुख किया. वहां उन्हें जो भी रोल मिला, किया. एक बैकस्टेज आर्टिस्ट के तौर पर भी उन्होंने काम किया. उस काम के लिए दिलीप जोशी को मात्र 50 रुपये ही मिलते थे. वह थिअटर के नाटकों के लिए पंचलाइन और जोक्स लिखते थे, जिन्हें लोग खूब इंजॉय करते थे. पर दिलीप जोशी को असली स्टारडम और शोहरत मिली ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ से, जिसमें उन्होंने जेठालाल का रोल निभाया और अमर कर दिया. दिलीप जोशी इन दिनों ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ की कहानी से खुश नहीं हैं और उन्हें लगता है कि अब शो फैक्ट्री बन चुका है, जहां राइटर्स पर हर रोज नई-नई कहानी लेकर आने का दबाव है.

  टेक्नाे के ब्रांड एम्बेसेडर बने आयुष्मान खुराना

 

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *